abu-bakar-bagdadi

दुनिया के सामने आतंक का पर्याय बन चुका खूंखार आतंकवादी सगठन ISIS के सरगना अबु बकर अल बगदादी के एक बार फिर मारे जाने की खबर सामने आई ह । सीरियों के एक निगरानी ग्रुप ने यह दावा किया है कि बगदादी मारा जा चुका है। इस ग्रुप ने दावा किया है कि ISIS सरगना बगदादी के मारे जाने की पुख्ता जानकारी मिली है। आपको बतादें कि इससे पहले भी बगदादी के मारे जाने की करीब छह बार खबरें आ चुकी है लेकिन एक बार भी उसकी मौत की पुष्टी नही हो सकी।

दरअसल सीरियों में ब्रिटेन की युद्ध निगरानी समुह सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने मंगलवार को आईएस के सरगना अबु बकर अल बगदादी की मौत की पुष्टी कर दी। इस समुह के निदेशक रामी अब्देल रहमान का कहना है कि अल-जोर में आईएस के नेताओं ने ही उनके मुखिया बगदादी की मौत की खबर पर ठप्पा लगाया है। अब्देल ने बताया कि बगदादी की मारे जाने की खबर तो आई है लेकिन उन्हे इस बात का नही पता की बगदादी कब और कैसे मारा गया। हालांकि इससे पहले रूस के रक्षा मंत्रालय ने रक्का में एक हवाई हमले में बगदादी को मारने का दावा किया था। लेकिन इसकी कभी पुष्टी नही हो सकी।

6 बार आ चुकी है ISIS सरगना बगदादी की मौत की खबर

पहली बार: 6 सितंबर 2014

आईएसआईएस के मुखिया अबु बकर अल बगदादी की पहली बार मौत की खबर साल 2014 में आई थी। इस साल एक ब्रिटिश पत्रकार की गला काटकर हत्या करने के बाद दुनिया ने आईएस का वहसी चेहरा पहली बाद देखा था। इसके बाद इस एक हवाई हमले में आतंकी बगदादी के घायल होने और फिर उसकी मौत की खबर आई थी, लेकिन करीब एक महीने बाद 13 नवंबर 2014 में बगदादी का एक ऑडियो सामने आया और उसने खुद की मौत को झूठा करार कर दिया।

दूसरी बार: 27 अप्रैल 2015

साल 2015 में  रेडियो ईरान ने दावा किया था कि 27 अप्रैल को सीरिया के गोलन हाइट्स क्षेत्र में एक इजरायली अस्पताल में आईएस सरगना बगदादी की मौत हो गई है। ईरान रेडियों के बाद दो इराकी न्यूज एजेंसियों ने भी इसकी मौत का दावा किया था लेकिन करीब तीन महीन बाद जूलाई 2015 में बगदादी के जिंदा होने के सबूत फिर सामने आ गए।

तीसरी बार: 12 अक्टूबर 2015 को अमेरिका ने ISIS के खिलाफ अमेरिका ने मोर्चा खोला। अमरीकी सेना के हवाई हमले में बगदादी बुरी तरह से जख्मी हो गया था। दावा किया जा रहा था कि हमले के समय बगदादी अपने साथियों के साथ इराक और सीरिया की सीमा के पास एक ठिकाने पर था। इस हमले में भी बगदादी के घायल होने की सूचना आई थी लेकिन मौत की खबर को कभी पुष्ट नही किया जा सका।

चौथी बार: 9 जून 2016 को अमरिकी सेना को आईएस सरगना बगदादी का काफिला छुप कर सीरिया से रक्का जा रहा था, सेना ने खबर मिलने के बाद उसके काफिले पर बम गिराया गया।  लेकिन इस बार भी बगदादी की मौत की खबर फिर अफवाह निकली।

5वीं बार: 11 जून2017 को सीरिया के स्टेट टीवी ने दावा किया था कि रक्का में 11 जून को हुए हवाई हमले में बगदादी मारा गया। इसके साथ ही रूस की सेना ने भी दावा किया कि 28 मई को उसने सीरियों में आईएस आतंक के किले रक्का में हवाई हमला किया था। जिसमें बगदादी सहित आईएस के कई नेताओं के मरने की खबर आई थी।

कौन है अबु बकर अल-बगदादी

बगदादी आतंकी संगठन आईएसआईएस का चीफ है। वो अबु मुसाब अल-जरकावी की मौत के बाद संगठन का चीफ बना। 29 जून, 2014 को बगदादी ने इराक और सीरिया के ज्यादातर हिस्सों पर कब्जा कर इस्लामिक स्टेट का एलान करते हुए खुद को मुसलमानों का खलीफा बताया। इसकी पहचान संगठन में बैटल फील्ड कमांडर और टेक्नीशियन के रूप में है। बगदादी इस्लामिक स्टडीज में पीएचडी है। वह चार साल इराक के बुक्का में यूएस प्रिजन कैम्प में भी रह चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here