Rajasthan bjp president

राजस्थान में हाल ही वरिष्ठ विधायक और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी द्वारा पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद राज्य इकाई के अगले प्रमुख की नियुक्ति पर सभी की नजरें टिकी हुईं हैं। कुछ दिनों पहले तक केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेन्द्र ​सिंह शेखावत का नाम सबसे आगे चल रहा था, लेकिन अब राजस्थान में पार्टी अध्यक्ष की कमान कौन संभालेगा यह कहना थोड़ा मुश्किल हो गया है। Rajasthan bjp president

माना जा रहा है कि गजेन्द्र सिंह के नाम पर राज्य के संगठन अधिकारी, मंत्री और विधायक सहमत नहीं हो पाए हैं। वहीं, पार्टी का कहना है कि नए अध्यक्ष का चुनाव जातिगत आधार पर नहीं होगा। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी आनंद शर्मा के अनुसार, पार्टी को शीघ्र ही नया प्रदेश अध्यक्ष मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित पार्टी है, जातिगत नहीं। इसलिए कार्यकर्ता ही प्रदेश अध्यक्ष होगा, जातिगत आधार पर नियुक्ति नहीं की जाएगी। आइये जानते हैं इस दौड़ में किस-किसके नाम आगे चल रहे हैं.. Rajasthan bjp president

इनमें से कोई एक हो सकता है राजस्थान भाजपा का अध्यक्ष

प्रदेश अध्यक्ष पद की दौड़ में राज्य के संसदीय कार्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ का नाम भी चल रहा है जिन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र चुरू में अपने जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में कहा कि इस कार्यक्रम को शक्ति प्रदर्शन के तौर पर नहीं देखा जाए। मैं पार्टी का छोटा कार्यकर्ता हूं और कार्यकर्ता ही रहना चाहता हूं। इस कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, राजस्थान के कैबिनेट मंत्री डॉ. अरूण चतुर्वेदी, प्रभुलाल सैनी मौजूद रहे। राठौड़ ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष पद पर नियुक्ति को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की। माना जा रहा है कि गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, राजेन्द्र राठौड़ या किसी ब्राह्मण चेहरे को प्रदेश का अगला प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। पार्टी ऐसे चेहरा चुनना चाहेगी जिससे पार्टी को किसी प्रकार का नुकसान न हो साथ ही पार्टी को प्रदेश में मजबूत कर विधानसभा चुनाव 2018 और लोकसभा चुनाव 2019 में जीत दिला सके। Rajasthan bjp president

Read More: पाली में मुख्यमंत्री से जनता ने कहा.. आपकी योजनाओं ने बदला हमारा जीवन

जल्द ही की जाएगी प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा

प्रदेश भाजपा प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय नेतृत्व और मुख्यमंत्री समेत प्रदेश नेतृत्व जल्दी ही प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर विचार विमर्श कर प्रदेशाध्यक्ष के नाम की घोषणा करेगा। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि नए अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं होने से कामकाज प्रभावित नहीं हो रहा है। पूर्व तय कार्यक्रम और बैठकें हो रही हैं। गौरतलब है कि राजस्थान में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। उससे पहले पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव करना पार्टी के लिए बड़े मायने रखता है। पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने कामकाज में व्यस्तता का हवाला देते हुए गत बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। राजस्थान में तीन विधानसभा सीटों पर हाल ही में हुए उपचुनावों में बीजेपी उम्मीदवारों की हार के बाद से परनामी को हटाने की चर्चा चल रही थी। Rajasthan bjp president

1 COMMENT

  1. वैसे तो प्रदेश अध्यक्ष किसे बनाया जाए यह भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को तय करना है लेकिन जहां तक मैं सोचता हूं इसके लिए सबसे उपयुक्त नाम सतीश पूनिया का है जिन्होंने विद्यार्थी जीवन से ही अपना समूचा जीवन पार्टी कीसेवा में लगाया है और संगठनात्मक रूप से कार्य करने का एक लंबा अनुभव और कुशलता उनके पास है। साथ ही राजस्थान की एक बड़ी किसान जाति में जन्म लेने के बावजूद उन्होंने ना कभी जातिवादको अपनी कार्यशैली में घुसने दिया और ना ही उन पर कभी जातिवाद के आरोप लगे। साथ ही उनकी संग निष्ठ छवि भी इस दावेदारी को मजबूत करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here