vasundhara-raje

भारत सरकार के केंद्रीय निर्वाचन आयोग द्वारा तय योजनानुसार मतदाता सूची में पंजीकरण से शेष रहे 18 वर्ष से अधिक उम्र के पात्र व्यक्तियों का पंजीकरण सुनिश्चित करने हेतु राज्यभर में 1 जुलाई, 2017 से 31 जुलाई, 2017 तक महीनेभर के लिए ’’वृहद् पंजीकरण अभियान’’ आरम्भ किया जा रहा है। इस अभियान के द्वारा राज्य में वे व्यक्ति जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक है, लेकिन किसी कारण से उनका नाम मतदाता सूची में नहीं है, उनका पंजीकरण कर मतदाता सूची में उनका नाम जोड़ा जायेगा। इस वृहद् अभियान के दौरान 18-19 आयु वर्ग के नवयुवकों एवं विशेष योग्यजनों के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। यह सुनिश्चित किया जायेगा कि आगामी चुनावों में अधिकाधिक मतदाता देश और प्रदेश की सरकार निर्माण में अपनी भागीदारी दे सके।

शत प्रतिशत विशेष योग्यजनों का किया जायेगा पंजीकरण:

आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव के लिए मतदान में राज्य के व्यक्ति-व्यक्ति की भागीदारी दर्ज़ करने के प्रयास सरकार द्वारा किए जा रहे है। राज्य में विशेष योग्यजनों का शत-प्रतिशत पंजीकरण सुनिश्चित करने का काम इस अभियान में प्रमुखता से किया जा रहा है। इस हेतु संबंधित विभाग से पंजीकृत विशेष योग्यजन की सूची चुनाव आयोग द्वारा प्राप्त की गई है। राज्य स्तर पर पंजीकृत दिव्यांगों की सूची का मतदाता सूची के साथ मिलान किया जा रहा है। किसी विशेष योग्यजन का मतदाता सूची में अभी तक नाम दर्ज़ नहीं है तो उनसे आवेदन पत्र प्राप्त किए जाएगे। इस अभियान के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि 16 जुलाई से 31 जुलाई, 2017 के मध्य सम्बंधित क्षेत्र के बीएलओ घर-घर जाकर विशेष योग्यजनों का नाम मतदाता सूची में जोड़ेंगे।

voter-id-card

राज्य में पंजीकृत है, अब तक कुल 4 करोड़ 60 लाख मतदाता:

राजस्थान में चुनाव आयोग द्वारा पूर्व में चलाये गए पंजीकरण अभियान के पश्चात् कुल आंकड़ों को देखें तो पता चलता है कि राज्य में अब तक कुल 4 करोड़ 60 लाख मतदाता पंजीकृत हैं। इन मतदाताओं में से 2 करोड़ 41 लाख पुरूष मतदाता एवं 2 करोड़ 19 लाख महिला मतदाता हैं। हालांकि राजस्थान सरकार द्वारा समय-समय पर मतदाता पंजीकरण अभियान चलाये जाने के कारण राज्य में मतदाताओं की अच्छी संख्या है। बावजूद इसके शेष रहे पात्र जनों का इस अभियान द्वारा पंजीकरण किया जायेगा।

युवा पंजीकरण महोत्सव अभियान द्वारा बढ़ाई गई मतदाताओं की संख्या:

राजस्थान में 18-19 आयु वर्ग के युवाओं को हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा बनाने के लिए इसी वर्ष 1 फरवरी, से 31 मार्च तक पूरे दो महीने के दौरान ”युवा पंजीकरण महोत्सव’’ अभियान चलाया गया था। इस अभियान की सफलता इस बात से प्रमाणित होती है कि इस दौरान राज्य में कुल 21 लाख नए मतदाताओं का पंजीकरण किया गया। इनमें से 11.46% मतदाता 18-19 आयु वर्ग के थे।

सभी नागरिकों को बढ़चढ़ कर भागीदारी करनी चाहिए:

राजस्थान के मुख्य चुनाव अधिकारी अश्विनी भगत ने राज्य के समस्त नागरिकों एवं राजनैतिक दलों से आह्वान किया है कि मतदाता पंजीकरण के इस अभियान में बढ़चढ़ कर भाग लें। विशेषकर युवाओं को ध्यान में रखकर कहा कि मतदाता सूची में अपना नाम अवश्य जुड़वाकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे। अपने कर्त्तव्य को समझ, अपने अधिकारों का विवेकशील उपयोग करें। अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here