Gulab Chand Kataria

राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे विकास का विजन प्रदेश के किसानों के विकास के साथ देखती हैं। किसानों का विकास होगा तभी मरूधरा का विकास होगा। किसानों के हितों को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री राजे ने 2016 में किसान कल्याण के लिए ग्राम का आयोजन किया था। देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वस्थ धरा एवं खेत हरा का विजन रखते हुए सोयल हैल्थ कार्ड योजना राजस्थान से शुरू की थी। प्रदेश के 29 लाख किसान इस योजना का लाभ ले चुके हैं। वर्तमान में मुख्यमंत्री राजे किसानों को फव्वारा संयत्र पर 50 से 60 फीसदी अनुदान दिया जा रहा हैं। 2017-18 के बजट में मुख्यमंत्री राजे ने किसानों के लिए मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना प्रारंभ की हैं। इसके अलावा प्रदेश में आगामी एक साल में 3 हजार 156 करोड़ 61 लाख रुपए व्यय का प्रावधान किया गया हैं।

Rajasthan Government Schemes for Farmers

फसल खराबे का अनुदान मिलेगा शीघ्र

आपदा प्रबन्धन एवं सहायता मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने विधानसभा में सोमवार को कहा कि सरकार किसानों को फसल खराबे का अनुदान शीघ्र देगी।  कटारिया शून्यकाल ने इस सम्बन्ध में उठाए गए मुद्दे पर हस्तक्षेप करते हुए कहा कि अभी मार्च के महिने में जोधपुर, जैसलमेर, भीलवाड़ा, हनुमानगढ़, जयपुर, और अलवर में वर्षा व ओलावृष्टि के कारण फसल खराब हुई है इसके लिए शीघ्र गिरदावरी रिपोर्ट तैयार करवाकर किसानों को अनुदान उपलब्ध करवाया जाएगा।

5 हजार 36 करोड़ का मेमोरेंडम तैयार

आपदा प्रबन्धन एवं सहायता मंत्री ने कहा कि वर्ष 2013-14 में 6 हजार 290 करोड़ रुपये का किसानों को ऑन लाइन भुगतान किया गया है। गत 21 नवम्बर, 2016 को 1231 करोड़ रुपये का ऑनलाइन भुगतान 33 से 50 प्रतिशत तक के खराबे वाले किसानों को किया गया है तथा 5 हजार 36 करोड़ रुपये का मेमोरेण्डम सरकार को भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि फसल खराबे का समय पर शीघ्र भुगतान किया जाएगा।

गौशालाओं को दिए 503 करोड़

कटारिया ने सदन को बताया कि आपदा प्रबन्ध के तहत 503 करोड़ रुपये गौशालाओं को दिए गए है। उन्होंने कहा कि किसान की समस्या हमारी अपनी समस्या है इसका शीघ्र समाधान भी किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here