अमृत-योजना

इस वर्ष शहरी क्षेत्रों में चलाये गए सुधार के कार्यों में राजस्थान देशभर के राज्यों में 7 वें स्थान पर रहा है। इस रिपोर्ट में सभी राज्यों के शहरी क्षेत्रों की स्वच्छता, ढांचागत सुधार, मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ती को पैमाने पर रखा गया। देश के सभी राज्यों में राजस्थान को शहरी सुधार के कार्यों की प्रगति के मामलें में टॉप-10 स्थान में आना राज्य सरकार का अपने प्रदेश के शहरी इलाकों के विकास की तरफ किये जा रहे सकारात्मक कार्यप्रणाली को दर्शाता है।

केंद्र सरकार ने दी 38 करोड़ रूपए की प्रोत्साहन राशि:

राजस्थान सरकार के इस बेहतरीन परिणाम को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्य को प्रोत्साहन राशि के रूप में 37 करोड़ 94 लाख रूपए भेंट किये। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने भारत सरकार की और से राजस्थान सरकार को यह राशि अपने शहरी निकायों में निरंतर और अधिक सकारात्मक सुधारों के लिए प्रोत्साहन के रूप में प्रदान किये।

राजधानी दिल्ली में किया गया सम्मानित:

कल शुक्रवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में नेशनल वर्कशॉप इन अर्बन ट्रांसफॉर्मेशन समारोह का आयोजन किया गया था। इस वर्कशॉप में राज्य की 29 मिशन सिटीज़ के कमिश्नर शामिल हुए। इस समारोह में राज्य की स्मार्ट सिटी उदयपुर के कमिश्नर और हेरिटेज संरक्षण के लिए चलाई जा रही केंद्र सरकार की ह्रदय योजना के अंतर्गत शामिल अजमेर शहर के आयुक्त ने अपने निकाय में हुई प्रगति का पावर पॉइंट प्रज़ेंटेशन देकर सभी प्रतिनिधियों को प्रभावित किया। इसी कार्यक्रम में केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने राजस्थान स्थानीय निकाय विभाग के प्रमुख शासन सचिव मनजीत सिंह को राजस्थान में हुए शहरी सुधारों के लिए पुरस्कार प्रदान किया।

अमृत योजना में भी किया बेहतरीन काम:

भारत सरकार की ओर से ठीक दो साल पहले दिनांक 25.06.2015 को प्रारम्भ हुए मिशन अमृत के तहत राजस्थान के शहरों में हुए विकासकार्यों की भी इस समारोह में तारीफ़ की गई। केन्‍द्रीय प्रायोजित स्‍कीम (सीएसएस) के रूप में संचालित होने वाले इस मिशन में राजस्थान के 29 शहरों को शामिल किया गया था। इन शहरों में ढांचागत सुधार कर इनमें पुनर्योवन लाना इस योजना का उद्देश्य है। योजना की तरक्की के सभी मानकों पर राजस्थान के ये शहर खरें उतरें है। इसलिए राजस्थान में हुए इन विकासकार्यों की राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here