राजस्थान सरकार ने प्रदेश की बेटियों के लिए कई योजनाओं को लागू किया हैं । मुख्यमंत्री वसंधरा राजे राजस्थान को बेटियों की सहभागिता के साथ विकास की ओर अग्रसर करना चाहती हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री राजे ने बेटी बचाओं योजना, राजश्री योजना, गरिमा बालिका सम्मान, मुख्यमंत्री सक्षम बालिका योजना, अपनी बेटी योजना, लाड़ली रक्त कार्यक्रम जैसी कई योजनाओं से बालिका उत्थान का कार्य किया हैं। मुख्यमंत्री राजे अब प्रदेश की बालिकाओं के लिए बेटी गौरव उद्यान बनाने जा रही हैं। यह पार्क फिलहाल उदयपुर में बन रहे हैं इसके बाद पूरे प्रदेश में इस तरह के पार्क बनाए जाएंगे जहां बालिका जन्म को उत्सव की तरह मनाया जाएगा। राजस्थान देश का पहला राज्य हैं जहां इस तरह के बेटी गौरव उद्यान बनाए जा रहे हैं।

उदयपुर में बन रहा हैं देश का पहला ‘बेटी गौरव उद्यान’

उदयपुर में बन रहे देश के पहले ‘बेटी गौरव उद्यान’ की तरह अब पूरे राज्य में इस तरह के उद्यान बनाए जाएंगे। जहां बेटियों के जन्म को उत्सव की तरह मनाया जाएगा। साथ ही बेटियों के लिए विभिन्न प्रकार की आधुनिक सुविधाएं भी उपलब्ध रहेंगी। इसके लिए राजस्थान राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर बेटी गौरव उद्यान के निर्माण का निर्णय लिया है। सरकार ने सोमवार को सभी विकास प्राधिकरण, नगर विकास प्रन्यास के सचिवों को उद्यान के लिए 5 से 10 एकड़ तक जमीन उपलब्धता का चयन कर राज्य सरकार को सूचित कराने के आदेश जारी किए हैं।

प्राकृतिक सौन्दर्य के साथ ही स्वास्थय और कला की आधुनिक सुविधाएं मिलेगी

खास बात है कि इन उद्यान में बेटियों को प्राकृतिक सौन्दर्य के साथ ही स्वास्थय और कला के लिए विभिन्न आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। इस पूरे प्रोजेक्ट पर होने वाले खर्चे के लिए प्रपोजल मंगाए गए हैं। जानकारों के अनुसार उद्यान का निर्माण का कार्य चार तरह की फंडिंग से होने की संभावना है। इसमें पीपीपी मोड, सीएसआर, जन सहभागिता और विकास प्रन्यासों से फंडिंग हो सकती है। इसके जरिए बेटी के जन्म को गौरव और उत्सव का प्रसंग बनाना। हरित क्षेत्र को विकसित करने के साथ ही स्वास्थ्य के प्रति जागरुकता लाना और मनोरंजन एवं खेलकूद के अवसर उपलब्ध कराना है। जबकि जमीन की उपलब्धता के अनुसार ही सुविधाएं होंगी।

आधुनिक सुविधाओं के साथ मनोरंजन का भी रखा जाएगा ख्याल

उद्यान में बेटियों से संबंधित कार्यक्रम के लिए ओपन एयर थिएटर का निर्माण किया जाएगा। साथ ही बेटियों के लिए यहां ओपन जिम के साथ ही बेटियों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए योगा लॉन, जॉगिंग पार्क की भी स्थापना की योजना है। उद्यान में जूस, फल एवं अन्य स्वास्थ्य पदार्थों के लिए कैफेटेरिया भी स्थापित किया जा सकेगा। प्राकृतिक आनंद के लिए नौकायान, फव्वारे की व्यवस्था की जाएगी। मनोरंजन के लिए टॉय ट्रेन सहित आधुनिक सुविधाओं की संभावनाए तलाशी जाएंगी। खेल के लिए बैडमिंटन, बॉलीबॉल, खो-खो, बॉलीबॉल आदि की व्यव्स्था करने का प्रयास रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here