राजस्थान में मीणा समाज के मसीहा बनें दौसा जिले के लालसोट विधायक किरोड़ी लाल मीणा जयपुर में अपना निरर्थक शक्ति प्रदर्शन करने चले है। मीणा अपना स्वार्थ सिद्धी के लिए शंखनाद रैली के ज़रिए मीणा समाज को बहकाने के लिए जयपुर कूच कर रहे हैं।

किरोड़ी मीणा ने किया समाज का विभाजन

किरोड़ी लाल मीणा राजस्थान के मीणा समाज के एकमात्र नेता है जो समाज को दो हिस्सों में विभाजित करने का काम करते हैं। किरोड़ी मीणा स्वर्ण मीणा समाज के साथ तो अपनी सहानूभुति दिखाते है लेकिन समाज के वे लोग जो वाकई में पीछे हैं वो तपका जो आर्थिक दृष्टी में पिछड़े हुए है उन्हे नकारते रहे हैं। लेकिन राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मीणा-मीना समाज में पसरें इस विवाद को खत्म कर मीणा समाज को नई उम्मीदे दी हैं।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मीणा-मीना विवाद पैदा करने वाले राजनीतिक तत्वों पर प्रहार करते हुए मीणा समाज को एकत्रित करने का कार्य किया हैं। मीणा समाज को गुमराह करने वाले इन नेताओं में समाज को विभाजित करने का कार्य किया हैं। लेकिन मीणा-मीना एक है तभी समाज विकास करेगा और आर्थिक जंजीरों से मुक्त होगा।

शंखनाद रैली के ज़रिए जनता का बहकाने का कर रहे है काम

किरोड़ी लाल मीणा जयपुर में शंखनाद रैली के जरिए मीणा समाज के लोगों को बहकाने का काम करते हैं । मीणा समाज का एक बहुत बड़ा हिस्सा हैं जो शिक्षा क्षेत्र में पिछड़ा है उन्हे बहकाने का कार्य कर अपना राजनीतिक स्वार्थ सिद्ध कर रहे हैं।

पिछली बार अक्टुबर में किरोड़ी लाल मीणा में किरोड़ी लाल मीणा द्वारा आयोजित की गई शंखनाद रैली पूरी नही हो पाई थी इसलिए किरोड़ी जी दूसरी बार समाज के लोगों को एकत्रित कर अपना निरर्थक शक्ति प्रदर्शन करने जयपुर आ रहे हैं।

सवर्ण आरक्षण का नया मुद्दा लेकर आ रहे हैं किरोड़ी

जयपुर में शंखनाद रैली करने आ रहे किरोड़ी लाल मीणा इस बार नया मुद्दा लेकर आ रहे हैं। किरोड़ी लाल मीणा सवर्ण आरक्षण का नया मुद्दा लाए हैं। लालसोट विधायक ने कहा कि प्रदेश के गरीब सवर्णों को 14 फीसदी का आरक्षण मिलना चाहिए । और जो आरक्षित है उन के आरक्षण को नवीं सूची में शामिल करवाया जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here