vasundhara-raje

मुख्यमंत्री राजे ने हाल ही में एक कैबिनेट बैठक में प्रदेश के प्रतिभावान खिलाड़ियों को राज्य स्तर की नौकरी की घोषणा की  थी, इस घोषणा पर अधिकारियों ने अमल करना शुरू कर दिया है। राज्य सरकार ने प्रदेश के ओलंपिक पदक विजेताओं, एशियाड एवं कॉमनवैल्थ खेलों के स्वर्ण पदक विजेताओं को आरएएस, आरपीएस सहित राज्य सेवा में सीधी नियुक्ति देने जा रही है।  राज्य में खेल एवं खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर पदक विजेताओं को सरकारी नौकरी देने के लिए नियम में कार्मिक विभाग ने संशोधन कर दिया है। कैबिनेट की बैठक में प्रस्ताव पास होने के बाद कार्मिक विभाग ने नए नियम बनाने की अधिसूचना जारी कर दी थी जो कि तीन जुलाई से ही प्रभावी हो गई है। राज्य सरकार के इस कदम से राज्य के खेल प्रतिभाओं को संरक्षण मिल सकेगा। सरकार की ओर से अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर के पदक विजेताओं को नौकरी देने के लिए तीन श्रेणियां बनाई गई है, जिसके तहत उन्हें नौकरी दी जाएगी।

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बनेगी कमेटी

पदक पाने वाले खिलाड़ियों की ओर से किए जाने वाले आवेदन का परीक्षण मुख्यसचिव की अध्यक्षता वाली कमेटी के स्तर पर किया जाएगा। कमेटी में गृह विभाग के सचिव और प्रमुख सचिव खेल को इसका सदस्य बनाया गया है। मुख्यसचिव की ओर से एक किसी भी प्रशासनिक विभाग के सचिव को नामित किया जाएगा। पदकवीरों को नौकरी देने के लिए तीन श्रेणीयों में विभाजित किया गया है।

श्रेणी सी: राष्ट्रीय खेलों में पदक विजेताओं, राष्ट्रीय खेल चैपिंयनशिप के विजेता और उपविजेता को सी श्रेणी में रखा गया है। ऐसे खिलाड़ियों को मंत्रालयिक सेवा के तहत मंत्रालयिक सेवा, सचिवालय सेवा और पुलिस में क्लर्क ग्रेड – 2 की नौकरी दी जाएगी।

श्रेणी बी: एशियन और कामनवैल्थ खेल में रजत और कांस्य पदक विजेता, विजेता और उप विजेता विश्वकप, विश्व चैम्पियनशिप, एशियन एथलीट चैम्पियनशिप और पैरा ओलंपिक के विजेता को बी श्रेणी में रखा गया है। इसके तहत छह विभागों में खिलाड़ियों को अधीनस्थ सेवा के तहत नौकरी दी जाएगी। शिक्षा विभाग में पीटीआई ग्रेड-2 और 3, आबकारी विभाग में आबकारी गार्ड, पेट्रोलिंग आफिसर, पुलिस में सब इंस्पेक्टर और कांस्टेबल, जेल में असिस्टेंट जेलर और वार्डन, वन विभाग में रेंजर, फारेस्टर और फारेस्ट गार्ड और संस्कृत शिक्षा में पीटीआई ग्रेड 2 एवं 3 के पद पर तैनाती की जाएगी।

श्रेणी ए: इस श्रेणी में ओलंपिक पदक विजेता, एशियन और कामनवैल्थ में स्वर्ण पदक पाने वाले राज्य के खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। इसके तहत पद पाने वालों को पुलिस विभाग में डीएसपी, जेल विभाग में डिप्टी सुपरिटेडेंट ऑफ जेल, वन विभाग में असिस्टेंट कंजर्वेटर आफ फारेस्ट, आबकारी में विभाग में असिस्टेंट एक्साइज आफिसर, शिक्षा विभाग में लेक्चरर फिजिकल एजुकेशन और कोच, होमगार्ड में डिप्टी कमांडेंट और तकनीकी शिक्षा यानी इंजीनियरिंग कालेजों में पीटीआई के पद पर नियुक्ति की जाएगी।

आउट ऑफ टर्न अपॉइंटमेंट के तहत मिलेगी खिलाड़ियों को नौकरी

2016-17 की बजट घोषणा के अनुरूप ‘राजस्थान आउट ऑफ टर्न अपॉइंटमेंट टू स्पोर्ट्स मेडल विनर्स रूल्स-2017’ का अनुमोदन किया गया है। अब राज्य सरकार ओलंपिक के पदक विजेताओं, एशियाड एवं कॉमनवैल्थ खेलों के स्वर्ण पदक विजेताओं को राज्य सरकार आरएएस, आरपीएस सहित राज्य सेवा में सीधी नियुक्ति देगी। राष्ट्रीय खेलों में सीनियर वर्ग में पदक विजेता, राष्ट्रीय चैंपियनशिप में पदक विजेता, विजेता एवं उपविजेता खिलाडिय़ों एवं पैरालंपिक्स में क्वालिफाई कर हिस्सा लेने वाले खिलाडिय़ों को मंत्रालयिक सेवाओं में नियुक्ति दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here