गहलोत की जुबां पर बस एक ही नाम- खजाना खाली है, लेकिन मंत्रियों के बंगलों पर खर्च हो रहे हैं करोड़ो रुपये

0
353

जयपुर। राजस्थान में सत्ता परिवर्तन के बाद सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भले ही खजाना खाली होने के दावे कर रहे हो। लेकिन कांग्रेस सरकार के मंत्रियों को आवंटित बंगलों पर साफ-सफाई के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किये जा रहे हैं। इस बात की पुष्टि स्वयं राजस्थान सरकार के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने की है। धारीवाल ने सदन में बताया कि स्वच्छता व सुरक्षा के लिए सीएम गहलोत के बंगले पर सबसे ज्यादा करीब 62 लाख रुपये खर्च किए गए हैं।

किस मंत्री के आवास पर कितना खर्च
विधानसभा में बजट सत्र के दौरान नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने गहलोत सरकार से बंगलों पर हुए खर्चों का ब्यौरा मांगा। जिसके जवाब में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि सीएम गहलोत के सिविल लाइन स्थित 8 नम्बर आवास पर सुरक्षा व साफ-सफाई के लिए 61.84 लाख रुपए खर्च किए गए हैं। वहीं शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के बंगले की मरम्मत में करीब 50 लाख रुपये रुपए खर्च किए गए हैं। राजस्थान कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के सरकारी आवास पर 34.43 लाख रुपए की राशि साफ-सफाई व मरम्मत कार्यों पर खर्च की गई है। वहीं गहलोत सरकार के चार अन्य मंत्री भी ऐसे हैं जिनके बंगलों पर भी 30 लाख रुपए से अधिक रुपये व्यय किए गए हैं।

बंगलों पर खर्च के मामले में यह मंत्री भी रहे आगे
उदयलाल आंजना के बंगले पर – 32.86 लाख रु
भजनलाल जाटव के बंगले पर – 32.37 लाख रु
ममता भूपेश के बंगले पर – 27.68 लाख रु
बीडी कल्लां के बंगले पर – 23.96 लाख रु
शांति धारीवाल के बंगले पर – 10.31 लाख रु खर्च किए।

RESPONSES

Please enter your comment!
Please enter your name here