rahul gandhi coca cola

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब से पार्टी अध्यक्ष बने हैं, उनके ऊटपटांग बयानों का सिलसिला थम नहीं रहा है। अभी आलू से सोना बनाने के बयान को लोग भूले भी नहीं थे कि उनका एक ऐसा नया बयान सामने आया कि लोग अपने बाल नोचने लग गए। rahul gandhi coca cola

rahul gandhi coca cola

इस बयान में राहुल गांधी ने कोका कोला सॉफ्ट ड्रिक के फाउंडर को शिकंजी बेचने वाला बता दिया। यही नहीं, मैकडोनाल्ड्स के फाउंडर को भारत में ढाबा चलाने वाला बताया। उस समय राहुल नई दिल्ली में पार्टी के ओबीसी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

क्या कहा राहुल गांधी ने सम्मेलन में rahul gandhi coca cola

इस सम्मेलन में राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर वार करते हुए कहा, ‘आप मुझे बताओ कि कोका कोला कंपनी को किसने शुरू किया! कौन था ये! कौन जानता है! मैं आपको बताता हूं कि कौन थे! कोका कोला की कंपनी चलाने वाला अमेरिका में शिकंजी बेचता था।   rahul gandhi coca cola

पानी में चीनी मिलाता था और बेचता था। उसके अनुभव, हुनर का आदर हुआ। पैसा मिला और कोका कोला कंपनी बनी।’ आगे राहुल ने कहा कि मैकडोनल्ड कंपनी का फाउंडर ढाबा चलाता था।  rahul gandhi coca cola

क्या है सच्चाई और कोका कोला-मैकडोनल्ड का सच

असल में राहुल गांधी के दोनों कंपनियों का ज्ञान शायद कांग्रेसियों के भी समझ से परे हो गया हो। असल में कोका कोला कंपनी शिकंजी वाले ने नहीं बल्कि अटलांटा के फार्मासिस्ट जॉन पेम्बर्टन ने शुरू की थी। उन्होंने अपनी लैब में एक तरल पदार्थ तैयार किया जिसमें सोडे वाला पानी मिला हुआ था।  rahul gandhi coca cola

Read More: गंगापुर सिटी को इसी माह मिलेगा चम्बल का मीठा पानी: मुख्यमंत्री

जब जॉन ने इसे वहां खड़े कुछ लोगों को टेस्ट करने को कहा तो सभी ने इसे पसंद किया। बस यही से यह बिजनेस शुरू हुआ। जॉन के बही—खाते का हिसाब रखने वाले फ्रैंक रॉबिनसन ने इसे कोका कोला नाम दिया था।

दूसरी ओर, मैकडोनल्ड की शुरूआत दो भाइयों रिचर्ड और मॉरिस मैकडोनल्ड ने 1940 में की थी। इससे पहले दोनों ने कैलिफोर्निया के मॉरोविया में हॉट डॉग स्टैंड शुरू किया था और लोकप्रियता बढ़ने के बाद मैकडोनल्ड की नींव पड़ी।

ऐसे ही ऊटपटांग बयानों से चुनाव जीतेंगे राहुल गांधी

अपने बेतुके और बिना सिरपैर वाले बयानों से राहुल गांधी लंबे समय से ट्रोल हो रहे हैं। इन्हीं बयानों के दम पर कांग्रेस अध्यक्ष अब 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों में जीत भी दर्ज करना चाहते हैं।

लेकिन उनके इन बयानों से आमजन तो एक तरफ, कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में भी पप्पू वाली छवि बनने से नहीं रोक पाएंगे। विदेशों के बड़े व्यापारियों को शिकंजी बेचने और ढाबा वाला बताकर राहुल गांधी कांग्रेसियों को तो उल्लू बना सकते हैं लेकिन आम जनता को कैसे बनाएंगे।

राहुल गांधी ने कोका कोला सॉफ्ट ड्रिक के फाउंडर को शिकंजी बेचने वाला बता दिया। यही नहीं, मैकडोनाल्ड्स के फाउंडर को भारत में ढाबा चलाने वाला बताया। उस समय राहुल नई दिल्ली में पार्टी के ओबीसी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here