भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने सीएम गहलोत से की मुलाकात, राजनीति में मतभेद स्वाभाविक लेकिन मनभेद नहीं

0
92

जयपुर। भारतीय संस्कृति में दीपावली महोत्सव का अपना अलग ही स्थान है। फिर चाहे परिवार के दो अटूट संबंध हों या फिर राजनीतिक रूप से मतभेदी दो नेता, दीपावली पर इनका मिलन कोई आश्चर्य वाली बात नहीं है। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया बुधवार को सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से दीपावली का स्नेह मिलन करने उनके सिविल लाइन्स स्थित आवास पर पहुंचे। दीपावली के बाद यह सूबे के मुखिया से उनकी शिष्टाचार मुलाकात थी। इस दौरान भाजपा के कद्दावर नेता सतीश पूनिया ने अशोक गहलोत को दत्तोपंत ढेगड़ी द्वारा लिखित पुस्तक, डॉ. आम्बेडकर एवं सामाजिक क्रान्ति तथा ‘दीनदयाल जी को जानो’ पुस्तकें भेंट की।

राजनीतिक सौहार्द हमारी परंपरा – पूनियां
गहलोत से मुलाकात के बाद सतीश पूनिया ने कहा कि वें राजस्थान के मुखियां और प्रदेश का नेतृत्व कर रहे हैं। राजनीतिक सौहार्द वर्षों से हमारी परम्परा रही है और दीपावली के पावन अवसर पर प्रदेश में बीजेपी का प्रतिनिधित्व करने के नाते मेरी उनसे यह शिष्टाचार मुलाकात थी। पूनियां ने कहा कि दीपावली की शुभकामनाएं देने के लिए वे स्वयं गहलोत के आवास पर पहुंचे थे। हालांकि बाद में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी पूनिया से मुलाकात की कुछ तस्वीरें अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर साझा की।

राजनीति में मतभेद स्वाभाविक लेकिन मनभेद नहीं
भारतीय जनता पार्टी के राजस्थान प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि राजनीति में हमारे वैचारिक मतभेद हो सकते हैं लेकिन मनभेद बिल्कुल नहीं है और ना ही इसका असर व्यक्तिगत संबंधों पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि दिपावली की रामा-श्यामा के लिए मुख्यमंत्री से मिलना हमारी राजनीतिक सौहार्दता का परिचायक है। पूनियां ने आगे कहा कि गहलोत लंबा राजनीतिक अनुभव रखते हैं तथा व्यक्तिगत रूप से बहुत अच्छे इंसान हैं। मुलाकात के इन क्षणों को यादगार बनाने के लिए पूनियां ने गहलोत को दो किताबें भी भेंट की।

RESPONSES

Please enter your comment!
Please enter your name here