स्कूलों में सविधान के पाठ की पहल बढ़िया, लेकिन अशोक गहलोत स्वयं भी पालन करें : सतीश पूनिया

0
86

जयपुर। प्रदेश की सरकारी स्कूलों में बच्चों को प्रार्थना सभा में संविधान की प्रस्तावना का पाठ पढ़ाने की पहल का भाजपा ने स्वागत किया है। इसके साथ ही कहा है कि संविधान में लिखी बातों का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत स्वयं भी पालन करें। भाजपा प्रदेश अध्यक्षा सतीश पूनिया ने कहा है कि स्कूलों में संविधान की प्रस्तावना का वाचन अच्छी पहल है, लेकिन सीएम अशोक गहलोत सरकार को खुद भी इसे आत्मसात करना चाहिए। पूनिया ने कहा है कि राष्ट्रगान, राष्ट्रगीत और संविधान देश के लोकतंत्र को मजबूत बनाते हैं। ऐसे में इनका जितना वाचन और पाठन होगा, उतना ही बेहतर है। लेकिन संविधान की मूल भावनाओं का सम्मान करना कांग्रेस और प्रदेश सरकार भी सीखे जो संसद द्वारा पारित नागरिकता संशोधन कानून को राज्य में लागू नहीं कर रही है और इसके खिलाफ रैलियां करवा रही है।

संविधान नहीं कांग्रेस नेताओं की कुर्सी और भविष्य खतरें में
सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस के नेता बार-बार देश का संविधान खतरे में होने की बात कहते हैं, जबकि देश का संविधान और लोकतंत्र खतरे में नहीं है, बल्कि देश में कांग्रेस की विचारधारा, कांग्रेस नेताओं का भविष्य और प्रदेश में मुख्यमंत्री की कुर्सी खतरे में है। आपको बता दें कि 26 जनवरी से प्रदेश के सरकारी स्कूलों में होने वाली प्रार्थना सभाओं में संविधान की प्रस्तावना का वाचन शुरू करने के निर्देश दिए गए हैं। शुरुआत में प्रार्थना सभा के दौरान शिक्षक बच्चों को संविधान की प्रस्तावना नियमित रूप से पढ़ाएंगे। बाद में बच्चों की टोली प्रार्थना की तरह संविधान की प्रस्तावना पढ़ेगी।

राहुल बताएं कर्ज माफी व बेरोजगारी भत्ते के वादे कब पूरे होंगे : सतीश पूनिया
राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली को लेकर भाजपा ने कहा है कि राहुल गांधी जयपुर आ रहे हैं तो यह जरूर बताएं कि किसानों की संपूर्ण कर्ज माफी, सभी बेरोजगारों को भत्ता और महिलाओं की सुरक्षा के कांग्रेस सरकार के वादे कब तक पूरे होंगे। सतीश पूनिया ने राहुल गांधी के दौरे के लेकर कहा कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार यह रैली नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में आयोजित करवा रही थी, लेकिन इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस देश भर में जिस तरह का भ्रम फैला रही है और अराजकता का माहौल बना रही है, उसकी सच्चाई सामने आ रही है। यही कारण है कि इसे नाम बदल कर युवा आक्रोश रैली कर दिया गया है। पूनिया ने कहा कि सब जानते है कि युवा आक्रोशित क्यों है।

RESPONSES

Please enter your comment!
Please enter your name here