राजस्थान के अजमेर से लोकसभा के सांसद सांवरलाल जाट का आज सुबह 6:15 बजे निधन हो गया। सांवरलाल जाट वर्तमान केंद्र सरकार में राजस्थान की अजमेर सीट से सांसद थे। सांवरलाल जाट ने मोदी सरकार की प्रथम केबिनेट में 9 नवंबर 2014 से 5 जुलाई 2016 तक जल संसाधन राज्य मंत्री का उत्तरदायित्व निर्वहन किया था। प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने जाट के निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमन्त्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि सांसद और पूर्व मंत्री सांवरलाल जाट का निधन भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्र के लिए बड़ी क्षति है। राजस्थान की मुख्यमंत्री ने भी शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ”किसान नेता, सांसद व किसान आयोग के अध्यक्ष सांवर लाल जी का प्रदेश के विकास में योगदान हमेशा याद रहेगा, उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है।”

पिछले महीने भाजपा अध्यक्ष शाह की बैठक के दौरान बेहोश हो गए थे:

सांसद सांवरलाल जाट की तबियत पिछले काफी समय से नाज़ुक चल रही थी। अभी पिछले महीने जब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राजस्थान के तीनदिवसीय प्रवास पर आए थे, उस दौरान राजधानी जयपुर में शाह और प्रदेश के सांसद व विधायकदल के मध्य आयोजित विमर्श बैठक में सांवरलाल जाट अचानक बेहोश होकर गिर पड़े थे। जाट को उस समय दिल का दौरा आया था। उसके बाद जाट को जयपुर के एस.एम.एस. अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में जाट का डायलिसिस भी किया गया था। वहां उन्हें किडनी से सम्बंधित समस्या से भी जूझना पड़ा था। जाट के बेहतर उपचार के लिए ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (एम्स) के डॉक्टरों की टीम को जयपुर बुलाया गया था। चिकित्सकों की टीम ने जाट की हालत में कुछ सुधार बताया था।

राजस्थान विश्वविद्यालय में शिक्षक भी रहे हैं सांसद जाट:

16वीं लोकसभा में राजस्थान के अजमेर से सांसद सांवरलाल जाट अजमेर ज़िले के गोपालपुरा नामक गांव के मूल निवासी है। सांवरलाल जाट प्रदेश के जयपुर स्थित राजस्थान विश्वविद्यालय में व्याख्याता रह चुके हैं। जाट की तबियत खराब होने के बाद राजस्थान विश्वविद्यालय के उपकुलपति आर.के. कोठारी ने एसएमएस अस्पताल जाकर प्रोफ़ेसर जाट की कुशलक्षेम पूंछी थी। शिक्षक संघ ने भी प्रोफ़ेसर जाट के स्वास्थ्य में सुधार के लिए प्रार्थना की थी। प्रोफ़ेसर जाट का राजनीतिक जीवन भी बहुत उम्दा रहा है। जाट राजस्थान के अजमेर जिले की भिनाई विधानसभा क्षेत्र से तीन बार विधायक रह चुके हैं। प्रदेश की 14वीं विधानसभा में जाट अजमेर के नसीराबाद से विधायक बने थे। साल 1993, 2003 और 2013 में वे राजस्थान सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। वर्ष 2014 में अजमेर ज़िले से कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट को हराकर जाट लोकसभा सांसद चुने गए थे।

तबियत खराब थी, उपराष्ट्रपति चुनाव में भी नहीं की थी वोटिंग:

लोकसभा सांसद सांवरलाल जाट की तबियत खराब होने के कारण हाल ही में 5 अगस्त को हुए उपराष्ट्रपति चुनाव में जाट ने मतदान नहीं किया था। जाट उस समय अस्पताल में भर्ती थे। नाज़ुक हालत के चलते जाट पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here