salman khan

अब जेल में बापू आसाराम के साथ रहेंगे दबंग सलमान : कांकाणी हिरण शिकार मुकदमें में पांच साल की सजा। Salman Khan

5 अप्रैल को राजस्थान के जोधपुर ग्रामीण क्षेत्र के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देवकुमार ने मुम्बई हिन्दी फिल्मों के हीरो सलमान खान को पांच वर्ष की सजा तथा दस हजार रुपए जुर्माना लगाया है। यह सजा सलमान को वर्ष 1998 में हुए हिरण शिकार के मामले में दी गई है। salman khan

अदालत में जब सजा का ऐलान किया गया, तब सलमान और उनकी बहन अलवीरा तथा अर्पिता की आंखों में आंसू आ गए। सजा के ऐलान के बाद अदालत परिसर से ही सलमान को सीधे जोधपुर की सेंट्रल जेल ले जाया गया। जेल के सूत्रों के अनुसार सलमान को कथावचक बापू आसाराम के साथ ही रखा जाएगा। आसाराम पहले से ही योेन शोषण के आरोप में जेल में बंद हैं। जेल अधिकारी का कहना रहा कि जेल में आसाराम और महिपाल मदेरणा जैसे प्रतिष्ठित व्यक्ति सुरक्षित हैं, इसलिए सलमान की सुरक्षा को लेकर किसी को भी चिंता नहीं करनी चाहिए। salman khan

पांच बरी salman khan

कांकाणी हिरण शिकार के मुकदमे में न्यायाधीश देव कुमार ने फिल्म स्टार सेफअली खान, नीलम, तब्बू, सोनाली बंेद्रे और दुष्यंत सिंह को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया। हालांकि अदालत के इस निर्णय पर विश्नोई समाज ने नाराजगी जाहिर की है, लेकिन साथ ही कहा है कि सलमान खान जैसे सुपर स्टार को सजा मिलने से अब उन लोगों में भय होगा, जो वन्य जीवों का शिकार करते हैं। जानकार सूत्रों के अनुसार सलमान को सजा दिलवाने में जोधपुर के तब के डीएफओ ललित बोहरा की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। बोहरा ने ही जंगल के सभी सबूत पुलिस को उपलब्ध करवाएं और एक चश्मदीद गवाह पूनमचंद विश्नोई आखिर तक सच्चाई पर कायम रहा। salman khan

अधिक जानिए: क्या पायलट का रास्ता साफ कर दिया है राहुल गांधी ने, क्या कहा सचिन ने?

तीन मुकदमों में बरी salman khan

salman khan

1998 में हुए काला हिरण शिकार के मामले में पुलिस ने चार मुकदमें दर्ज किए थे, तीन मुकदमों में सलमान व सह आरोपी बरी हो चुके हैं। लेकिन चैथे और महत्वपूर्ण मुकदमें में सलमान को सफलता नहीं मिल सकी। असल में इस मुकदमे में बीस वर्ष इसलिए लग गए की सलमान के वकील इस मुकदमे को निर्णय तक नहीं पहुंचने दे रहे थे। सलमान को उम्मीद थी कि जब तीन मुकदमों में वे बरी हो चुके हैं तो चैथे मुकदमे में लाभ मिलेगा। लेकिन न्यायाधीश देव कुमार ने स्पष्ट कर दिया कि न्याय सबके लिए बराबर है। हालांकि दोषी करार दिए जाने के बाद सलमान के वकीलों ने न्यायाधीश से कहा कि सलमान अनेक सामाजिक कार्य करते हैं, ऐसे में सजा के ऐलान के समय नरम रुख अपनाया जाए। वहीं सरकारी वकील का कहना था कि सलमान आदतन अपराधी है। अदालत को बताया गया कि सलमान ने कितनी बार कानून तोड़ा है। दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद ही न्यायाधीश देव कुमार ने पांच वर्ष की सजा का ऐलान किया। यहां यह उल्लेखनीय है कि वन्य जीव संरक्षण अधिनियम में अधिकतम छह वर्ष की सजा का प्रावधान है। salman khan

फिल्म उद्योग पर पड़ेगा असर salman khan

सलमान के जेल चले जाने से फिल्म उद्योग पर असर पड़ेगा। सलमान जिन फिल्मों में काम कर रहे हैं। उनमें अब विलम्ब होगा। सलमान पर कई निर्माताओं ने करोड़ों रुपया लगा रखा है। अब देखना होगा कि सलमान को जमानत कब मिलती है। हालांकि सलमान के जमानत के प्रार्थना पत्र पर 6 अप्रैल को जोधपुर के जिला एवं सत्र न्यायालय में सुनवाई होगी। वकीलों ने पांच अप्रैल को ही जमानत का प्रार्थना पत्र दायर कर दिया है।  salman khan

-SP Mittal

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here