refinery in rajasthan

राजे सरकार का महत्वाकांक्षी और प्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा निवेश वाला प्रोजेक्ट यानि बाड़मेर रिफाइनरी का जल्द ही शिलान्यास होने जा रहा है। राजस्थान के लिहाज से यह प्रोजेक्ट बहुत महत्वपूर्ण है और इससे प्रदेश में लाखों की संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। यह रिफाइनरी देश की अन्य रिफाइनरी से थोड़ी अलग होगी। Refinery in Rajasthan

Read more: पद्मावती नहीं होगी राजस्थान में रिलीज : मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

बाड़मेर रिफाइनरी को देश की सबसे अत्याधुनिक रिफाइनरी के तौर पर बनाया जाएगा। माना जा रहा है कि बाड़मेर जिले के पचपदरा में बनने वाली यह रिफाइनरी 2022 से पहले बनकर तैयार हो जाएगी। आइये जानते हैं बाड़मेर रिफाइनरी का शिलान्यास कब होने जा रहा है और इस रिफाइनरी में अन्य रिफाइनरीज की तुलना में नया क्या होगा… Refinery in Rajasthan

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे राजस्थान की पहली रिफाइनरी का शिलान्यास

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 16 जनवरी को बाड़मेर जिले के पचपदरा स्थित रिफाइनरी का शिलान्यास करेंगे। रिफाइनरी शिलान्यास कार्यक्रम में देश और प्रदेश के कई बड़े नेता एवं बड़ी संख्या में लोग पहुंचेंगे। इस रिफाइनरी पर करीब 43 हजार करोड़ रुपये निवेश किए जाएंगे। रिफाइनरी से प्रदेश के करीब 1 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार उपलब्ध होगा। बाड़मेर रिफाइनरी 2022 से पहले बनकर तैयार हो जाएगी। रिफाइनरी में पिछली सरकार के एमओयू से एक प्रोसेसिंग यूनिट एक्सट्रा लगाई जाएगी। जिससे रिफाइनरी की लागत में बढ़ोतरी भी हुई है। Refinery in Rajasthan

9 मिलियन टन क्षमता की रिफाइनरी पर खर्च होंगे 43 हजार करोड़ रुपये

पचपदरा में बनने वाली इस 9 मिलियन टन क्षमता की रिफाइनरी और पेट्रो केमिकल कॉम्पलेक्स बनाने पर करीब 43 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। रिफाइनरी से रिफाइंड होने वाला ईधन पर्यावरण के अनुकूल होगा। खास बात यह है कि यह बीएस—6 मानक और पेट्रो केमिकल कॉम्पलेक्स के साथ बनने वाली देश की पहली रिफाइनरी होगी। यह रिफाइनरी बीएस—6 मानकों का के अनुरुप तेल उत्पादन करेगी। यह देश में अब तक का उच्च गुणवत्ता वाला सबसे ज्यादा रिफाइंड तेल होगा। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट के बीएस—6 नॉर्म लागू करने का आदेश दिया है। ऐस में इसको ध्यान में रखकर ही प्रदेश में बीएस—6 मानक रिफाइनरी लगाई जा रही है। Refinery in Rajasthan

देश की पहली बीएस—6 और अत्याधुनिक व ग्रीन रिफाइनरी होगी

राजस्थान के बाड़मेर जिले में लगने वाली रिफाइनरी पहली बीएस—6 नॉर्म वाली और सबसे अत्याधुनिक रिफाइनरी होगी। रिफाइनरी के आस—पास बड़े पैमाने पर ग्रीनरी विकसित की जाएगी। जिससे पर्यावरण को किसी भी प्रकार की होने वाली क्षति से बचाया जा सके। इस रिफाइनरी की एक और खास बात यह होगी कि राजस्थान के बाहर के साथ ही राजस्थान के क्रूड आॅयल को भी रिफाइंड किया जाएगा। बाड़मेर रिफाइनरी की पहचान देश में ग्रीन रिफाइनरी के रूप में होगी।

आस—पास कई फैक्ट्रियां लगने से मिलेगा हजारों की संख्या में रोजगार

इस रिफाइनरी के आस—पास कई फैक्ट्रियां लगेंगी, जिससे बड़ी संख्या में प्रदेश के लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा। रिफाइनरी के निर्माण के दौरान 20 हजार प्रत्यक्ष कामगारों की जरूरत होगी। अप्रत्यक्ष रूप से भी करीब 80 हजार लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। लोगों को अगले पांच साल तक रोजगार मिलेगा। इसके बाद 2022 में रिफाइनरी शुरू होने के साथ ही करीब 1000 लोगों को रिफाइनरी में रोजगार मिलेगा। रिफाइनरी लगने से आस—पास पीबीसी पाइप, नायलोन, प्लास्टिक उधोग, कीटनाशक उधोग, कॉस्मेटिक, दवा बनाने वाले उधोग, फर्टिलाइजर उधोग सहित अन्य कई तरह के उधोग लगेंगे। जिससे बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार मिलेगा। Refinery in Rajasthan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here