शहीद राजीव शेखावत को अंतिम विदाई में उमड़ा जन सैलाब, जम्मू-कश्मीर के पुंछ में थे तैनात

    0
    132

    जयपुर। प्रदेश के जयपुर जिले के विराटनगर तहसील स्थित ग्राम लुहाकना खुर्द के जवान राजीव सिंह शेखावत ( Rajeev Singh Shekhawat ) जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में पाकिस्तानी गोलाबारी में शहीद हो गए। राजीव सिंह शेखावत की शहादत को सलाम करने सोमवार को उनके अंतिम संस्कार में जन सैलाब उमड़ पड़ा। भारतीय सेना में तैनात शेखावत पुंछ इलाके में पाकिस्तान की ओर से शनिवार को की गई गोलाबारी में शहीद हो गए थे। शहीद की पार्थिव देह रविवार को दिल्ली पहुंची थी इसके बाद सोमवार सुबह पैतृक गांव लाई गई। उनके अंतिम संस्कार से पहले सेना के जवानों ने शहीद को सलामी दी। प्रागपुर पुलिस थाना से लुहकाना खुर्द तक यात्रा में लोग शहीद के अंतिम दर्शन करने उमड़ पड़े। रास्ते में भी जगह-जगह पुष्पांजलि दी गई। इस दौरान देश के लिए कुर्बान हुए शहीद राजीव सिंह के जयकारों से पूरा क्षेत्र गूंज उठा।

    पिता भी सेना से रिटायर्ड
    शहीद राजीव की विरांगना उषा देवी गृहिणी हैं। बेटे अधिराज सिंह की उम्र महज 10 साल है। शहीद के पिता शंकर सिंह भी सेना से रिटायर हैं। शहीद राजीव के मित्र बताते हैं कि वो कमाल का बंदा था। इतना जुनूनी इंसान हमने हमारे जीवन में कभी नहीं देखा। पिछले महीने श्रीगंगानगर से उसकी यूनिट जब कश्मीर रवाना हो रही थी तो हम सबसे मिलकर गया था। जल्द लौटने का वादा भी किया था। राजीव ने सेना में अपने 17 साल पूरे कर लिए थे। वे अगले साल रिटायर होने वाले थे। वे हाल ही में जनवरी में परिवार के साथ छुट्टियां मनाकर वापस ड्यूटी पर लौटे थे।

    पाकिस्तानी गोलीबारी में हुए शहीद
    36 वर्षीय राजीव सिंह शेखावत 5 राजपूताना राइफल्स में कार्यरत थे। वर्तमान में वे जम्मू-कश्मीर के पुंछ इलाके में तैनात थे। शनिवार को पाकिस्तान सेना ने पुंछ सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास संघर्ष विराम उल्लंघन करते हुए वहां गोलाबारी की। इसमें राजीव सिंह शेखावत शहीद हो गए। रविवार को राजीव सिंह के शहीद होने की सूचना मिलने के बाद विराटनगर उपखंड अधिकारी उनके पैतृक गांव पहुंचे।

    RESPONSES

    Please enter your comment!
    Please enter your name here