Rajasthan Roads

​राजस्थान में पिछले कुछ वर्षों से लगभग सभी क्षेत्रों में विकास हुए हैं। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में आमजन तक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने पर सरकार का पूरा जोर रहा है। राजे सरकार ने अपने 4 वर्ष के कार्यकाल में कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की है। राजस्थान ऐसा प्रदेश रहा है जहां आजादी के बाद भी पानी और सड़कों की हमेशा कमी रही है। सड़के और पानी आमजन के मूलभूत और महत्वपूर्ण साधन है। राजे सरकार ने इन दोनों ही क्षेत्रों में फोकस करते हुए जमकर विकास करवाए हैं। आइए जानते हैं पिछले चार वर्षों में प्रदेश में कितना सड़क विकास हुआ है…

गत चार वर्षों में दोगुनी हो गई हैं राजस्थान में सड़कों की संख्या Rajasthan Roads

ring road jaipur

वसुंधरा राजे सरकार ने गांवों-ढाणियों को विकास की मुख्यधारा और शहरों से जोड़ने के लिए सड़क निर्माण के क्षेत्र में रिकॉर्ड काम किए हैं। राजे सरकार द्वारा किए गए सड़क विकास कार्यों से पिछले 4 वर्ष में प्रदेश की सड़कों की संख्या दोगुनी हो गई हैं। राजस्थान सरकार में सार्वजनिक निर्माण एवं परिवहन मंत्री यूनुस खान ने हाल ही में पीडब्ल्यूडी और परिवहन विभाग आरएसआरडीसी की उपलब्धियां गिनाते हुए बताया कि 60 साल में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अन्य स्कीमों में प्रदेश में 60,312 किलोमीटर सड़कें बनीं थी। वहीं वर्तमान सरकार के 4 वर्ष के सुशासन में सड़कों की संख्या बढ़कर 1 लाख किेलोमीटर से ज्यादा हो गई हैं।

Read More: ज्ञान का गुरुकुल भी है ‘राजस्थान‘, भारतीय ही नहीं विदेशों से भी अपना भविष्य संवारने आते हैं छात्र

राजे सरकार सभी लक्ष्यों को सफलतापूर्वक कर रही है पूरा

पीडब्ल्यूडी और परिवहन मंत्री खान कहा कि राजस्थान में वर्तमान सरकार बनते समय लक्ष्य तय किया गया था कि सड़कों के मामले में राजस्थान को मॉडल स्टेट बनाएंगे। सरकार द्वारा 4 साल में किए गए कार्यों में नई सड़कों, मिसिंग लिंक, पीएमजीएसवाई ग्रामीण गौरव पथ की प्रगति आदि शामिल है जो राजस्थान को मॉडल स्टेट बनने में मदद कर रही है। मंत्री ने कहा कि कोटा के हैंगिंग ब्रिज पर 2009 से 2014 के बीच बंद रहा था उस पर वर्तमान सरकार के प्रयासों से ही काम शुरू हो पाया। उन्होंने आगे कहा कि झालावाड़ कोटा जिलों में अमझार से तीन धार के बीच बना देश का सबसे बड़ा बाईपास शामिल भी वर्तमान सरकार की उपलब्धियों में शामिल है।

वसुंधरा राजे सरकार की गत 4 वर्ष की ये रही उपलब्धियां

  1. राजे सरकार की पिछले चार साल की उप​लब्धियां के बारे में बात करें तो रोडवेज के बेड़े में 1437 नई बसें शामिल की गई है।
  2. राजे सरकार ने महिलाओं को नि:शुल्क यात्रा कराई है। साथ ही महिलाओं को किराए में भी छूट दी जा रही है।
  3. रोडवेज कर्मचारियों को समय पर वेतन देने और घाटा कम करने के लिए हर महीने 45 करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं।
  4. राजस्थान की 9894 ग्राम पंचायतों में 45 लाख लोगों ने सड़क सुरक्षा जागरूकता की शपथ ली है, जो अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है।
  5. महिलाओं के लाइसेंस बनवाने में 50 प्रतिशत की छूट दी जा रही है।
  6. वाहनों के प्रदूषण को जांचने के लिए आॅनलाइन प्रदूषण जांच की जा रही है।
  7. 12 आरटीओ और 1 डीटीओ में आॅटेमेटिक ड्राइविंग ट्रैक बनाया गया है।
  8. नवंबर, 2017 में इंटरनेशनल रोड फैडरेशन, जेनेवा की ओर से राजस्थान परिवहन विभाग को अंतरराष्ट्रीय रोड सेफ्टी अवार्ड से सम्मानित किया गया है।
  9. परिवहन और रोड सेफ्टी के क्षेत्र में अच्छा काम करने पर राज्य के परिवहन मंत्री यूनुस खान को केंद्र सरकार से एक बड़ी जिम्मेदारी भी मिली। हाल ही में सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में बेस्ट प्रेक्टिसेज के अध्ययन एवं अनुशंसा करने के लिए मंत्रियों के एक समूह का गठन उनकी अध्यक्षता में किया गया है। इसमें सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के परिवहन मंत्री सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here