आग़ाज़ हुआ देश के पहले फेस्टिवल ऑफ़ एजुकेशन का, प्रकाश जावड़ेकर और यूएई के संस्कृति मंत्री आए विशिष्ठ अतिथि के तौर पर
आग़ाज़ हुआ देश के पहले फेस्टिवल ऑफ़ एजुकेशन का, प्रकाश जावड़ेकर और यूएई के संस्कृति मंत्री आए विशिष्ठ अतिथि के तौर पर

देश के पहले शिक्षा के महाकुम्भ फेस्टिवल ऑफ़ एजुकेशन का आयोजन आज से राजस्थान की राजधानी जयपुर में हुआ। कार्यक्रम का आगाज़ सुबह 10 बजे रंगारंग समारोह के साथ हुआ। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कार्यक्रम का उदघाटन किया। दो दिनों तक चलने वाले इस राष्ट्रीय एजुकेशन फेस्टिवल का आयोजन आज शनिवार से जयपुर के सीतापुरा स्थित जयपुर एग्ज़ीबिशन एन्ड कन्वेशन सेंटर में हो रहा है। सेंटर में बनाए गए फंडामेंटल हॉल में कार्यक्रम का उदघाटन समारोह आयोजित हुआ। इस समारोह के उदघाटन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में प्रकाश जावड़ेकर और यूएई के संस्कृति और ज्ञान विकास मंत्री शेख नाहन मुबारक़ अल उपस्थित है। राज्य के शिक्षामंत्री वासुदेव देवनानी ने समारोह स्थल पर व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया।

दीप प्रज्वल्लित कर के मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किया शुभारम्भ।
दीप प्रज्वल्लित कर के मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किया शुभारम्भ।

ज्ञान संकल्प एवं मुख्यमंत्री विद्यादान कोष पोर्टल का होगा शुभारम्भ

प्रदेश के शिक्षार्थियों को हर तरह से लाभान्वित करने का ध्येय लिए आयोजित किए जा रहे एजुकेशन फेस्टिवल में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे आज ”ज्ञान संकल्प पोर्टल” एवं ”मुख्यमंत्री विद्यादान कोष पोर्टल” का शुभारम्भ करेगी। इन पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के भामाशाह हमारी शिक्षा की और बेहतरी के लिए आर्थिक अनुदान दे सकेंगे। इससे कमज़ोर वर्ग के छात्रों को आगे बढ़ने के लिए सहायता मिलेगी। प्रदेश के विद्याला और महाविद्यालयों को और अधिक विकसित किया जाएगा। बेहतर सुविधा और गुणवत्तापूर्ण उन्नत शिक्षा से प्रदेश को मज़बूती मिलेगी।

जेईसीसी के मंच पर देश के पहले ज्ञान संपर्क पोर्टल का हुआ उदघाटन।
जेईसीसी के मंच पर देश के पहले ज्ञान संपर्क पोर्टल का हुआ उदघाटन।

इन विषयों पर आज होंगे सत्र

सुबह 10 बजे परंपरागत राजस्थानी अंदाज़ के सांस्कृतिक कार्यक्रम द्वारा समारोह का शानदार उदघाटन होने के बाद भारत सरकार के मानव संसाधन एवं विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपना उद्बोधन दिया। छत्रों को प्रेरित करने वाले इस सम्बोधन में केंद्रीय मंत्री ने प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तारीफ की। मुख्यमंत्री राजे को इस शानदार महोत्सव की पहल करने पर आभार व्यक्त किया। आज के समारोह की अगली कड़ी में विभिन्न विषयों पर विमर्श आयोजित किया जाएगा। इनमें समय के साथ परंपरा में बदलाव पर चर्चा की जाएगी। इसके बाद राजकीय विद्यालयों को और अधिक बेहतर बनाने के विषय पर संवाद का आयोजन किया जाएगा। फेस्टिवल के विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन फंडामेंटल, एलीमेंटल और एक्सपेरिमेंटल हॉल में आयोजित किए जाएंगे। फेस्टिवल में सभी के लिए प्रवेश निःशुल्क रहेगा। पूरे प्रदेश और देश से अनेक शिक्षा प्रेमी इस उत्सव में भाग लेने के लिए जयपुर आ चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here