पेयजल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है।

आमजन को पीने योग्य पानी उपलब्ध कराना ही राजस्थान सरकार का लक्ष्य:

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंगलवार को अजमेर के राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के सभागार में जिला स्तरीय अधिकरियों की बैठक में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के दौरान कहा कि आमजन को पेयजल उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि मुख्य लाइन से पेयजल चोरी के कारण अंतिम छोर तक पानी नहीं पहुंच पाता, जिससे लोगों को कठिनाई होती है। जिले में ऐसे 60 गांव चिन्हित किए गए हैं जहां पेयजल की गंभीर स्थिति है। उन्होंने इन गांवों में पेयजल पहुंचाने के निर्देश दिए।

अवैध कनेक्शनों के खिलाफ करें सख्त कार्यवाही:

सीएम राजे ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि पाइप लाइनों पर अवैध कनेक्शन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से कहा कि लगातार जनसुनवाई कर अंतिम छोर तक के व्यक्ति को राहत प्रदान करें। पेयजल की समीक्षा करते हुए सीएम ने कहा कि अजमेर शहर को 24 घंटे पेयजल उपलब्ध कराने की परियोजना के लिए पर्याप्त बजट उपलब्ध कराया गया है। यह परियोजना एक वर्ष में पूरी करने के लिए जलदाय विभाग को पाबंद किया गया है। उन्होंने कहा कि इसमें अमृत एवं स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के फंड का भी उपयोग किया जाएगा। उन्होंने बीसलपुर–नसीराबाद से किशनगढ़ तक पानी लाने के लिए तेज गति से काम करते हुए 31 दिसंबर तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने बीसलपुर–नसीराबाद से किशनगढ़ तक पानी लाने के लिए तेज गति से काम करते हुए 31 दिसंबर तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।

मनरेगा पेमेंट का भुगतान समय पर किया जाए:

महात्मा गांधी नरेगा योजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्य समय पर पूरे हों तथा उनका भुगतान भी समय पर किया जाए।सीएम राजे ने गौरव पथ की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि नसीराबाद में गौरव पथ शीघ्र स्वीकृत कर कार्य प्रारंभ किया जाए। द्वितीय चरण में जो गौरवपथ पूर्ण हो गए हैं उनके जल्द उद्घाटन कराए जाएं तथा तीसरे चरण के कार्य शीघ्र प्रारंभ किए जाएं। उन्होंने आगे कहा कि विभिन्न कार्यों के उद्घाटन से पहले उनके बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि आमजन को इसकी जानकारी मिल सके।

सीएम राजे ने गौरव पथ की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि नसीराबाद में गौरव पथ शीघ्र स्वीकृत कर कार्य प्रारंभ किया जाए।

Read More: https://www.rajasthantruths.com/mukhya-mantri-jal-swavlamban-abhiyan/

35 करोड़ से होगी पुष्कर की सड़कों की मरम्मत:

मुख्यमंत्री ने पुष्कर की सड़कों की मरम्मत के लिए 35 करोड़ रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि वे जन समस्याओं को संवेदनशीलता के साथ सुनें तथा जनसुनवाई एवं चौपाल के कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित करें। इससे लोगों को राहत मिलेगी। उन्होंने पुष्कर सरोवर में गंदे पानी को रोकने के लिए स्वीकृत राशि का उपयोग शीघ्र करते हुए 31 दिसम्बर तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए।

बैठक में ये रहे मौजूद:

बैठक में सार्वजनिक निर्माण विभाग एवं परिवहन मंत्री यूनुस खान, शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी, महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनिता भदेल, संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत एवं शत्रुघ्न गौतम, विधायक भागीरथ चौधरी एवं शंकर सिंह रावत, अजमेर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष शिव शंकर हेड़ा, जिला प्रमुख वंदना नोगिया, अजमेर नगर निगम के महापौर धर्मेन्द्र गहलोत, संभागीय आयुक्त हनुमान सहाय मीना, पुलिस महानिरीक्षक मालिनी अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र सिंह सहित विभिन्न विभागों के प्रमुख शासन सचिव एवं जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here