Rajasthan Elections 2018

करीब 70 दिन तक बिना प्रदेश अध्यक्ष के रही राजस्थान बीजेपी को आखिर राज्यसभा सांसद मदनलाल सैनी के रूप में प्रदेशाध्यक्ष मिल ही गया। सैनी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता है और राजस्थान में कुछ महीने पहले हुए राज्यसभा चुनाव में बीजेपी की ओर से उन्हें निर्विरोध राज्यसभा भेजा गया। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति के साथ ही प्रदेश में चुनावी हलचल तेज हो गई है। राजस्थान में इसी वर्ष के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके लिए दोनों ही प्रमुख दलों ने अपनी रणनीतियों पर काम करना शुरू कर दिया है। Rajasthan Elections 2018

वर्तमान में वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली सरकार सत्ता में है। आगामी विधानसभा चुनाव में अगर बीजेपी को बहुमत मिलता है तो बीजेपी की ओर से मुख्यमंत्री राजे ही होंगी। यह बात बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अब नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी भी साफ कर चुके हैं। राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष ने हाल ही में एक प्रमुख समाचार पत्र को दिए इंटरव्यू में लोगों के सवालों के जवाब दिए। आइये जानते हैं सैनी के राजस्थान बीजेपी से जुड़े सवालों के सवाल-जवाब…

प्रदेशभर के पाठकों से प्राप्त हुए सवालों का बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने दिया जवाब Rajasthan Elections 2018

राजस्थान में चुनावी माहौल के बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी से सवाल-जवाब हुए। प्रदेश के प्रमुख समाचार पत्र के हजारों पाठकों ने मैसेज भेजकर सैनी पर सियासी, सामाजिक और प्रदेश के ज्वलंत मुद्दों से जुड़े सवाल पूछे। इनमें से बेहतरीन सवाल करने वाले चुनिंदा पाठकों को को समाचार पत्र के आॅफिस आकर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सैनी से सवाल पूछने का मौका दिया गया। आइये सबसे पहले जानते हैं अलवर के तिजारा निवासी जगमाल के सवाल का जवाब..

Read More: भारत निर्वाचन आयोग ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ली चुनाव तैयारियों की जानकारी

सवाल: चुनाव किसके नेतृत्व में होगा? उपचुनाव के नतीजाें के बाद सीएम का चेहरा बदलेगा?

इस सवाल का जवाब देते हुए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अगुवाई में लड़ा जाएगा। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार की जनहित की योजनाओं और पार्टी कार्यकर्ताओं के अटूट परिश्रम के बलबूते हम एक बार फिर सत्ता में आने में कामयाब होंगे। Rajasthan Elections 2018

सैनी ने कहा कि बीजेपी जीती तो वसुंधरा राजे ही राजस्थान की मुख्यमंत्री बनेंगी। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा, होनहार विद्यार्थी कभी परीक्षा के समय बीमार पड़ जाता है और उसके कम नंबर आते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि वह कमजोर हो गया। अगली परीक्षा में मेहनत का फल उसे जरूर मिलता है। उपचुनाव में हार के स्थानीय कारण भी हो सकते हैं।

सवाल: पार्टी क्या 100 मौजूदा विधायकों के टिकट काटने वाली है? कई की सीटें बदलेंगी? मंत्री या नेताओं के पुत्र-पुत्रियों को पार्टी टिकट देगी ? Rajasthan Elections 2018

सैनी ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि पार्टी में किसे टिकट दिया जाएगा? यह सब पार्टी का पार्लियामेंट्री बोर्ड तय करता है। लेकिन खराब परफॉर्मेंस वाले मंत्रियों व विधायकों के टिकट कटेंगे। पार्टी अध्यक्ष के नाते मैं मंत्री, विधायक या नेताओं के बेटे-बेटियों को टिकट दिए जाने के खिलाफ नहीं हूं, शर्त ये है कि वे बतौर कार्यकर्ता पार्टी में अपनी सेवाएं दे रहे हो। प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी ऐसी पार्टी है जहां कार्यकर्ता की मेहनत का पूरा सम्मान होता है।

सवाल: घनश्याम तिवाड़ी के बीजेपी छोड़ने से ब्राह्मण व कई मुद्दों पर राजपूत नाराज हैं? क्या करेंगे?

इस सवाल का जवाब देते हुए सैनी ने कहा, पद्मावत फिल्म को राजे सरकार ने बैन किया, प्रदर्शित नहीं होने दी। उन्होंने कहा, आनंदपाल का इतिहास किसी से छिपा नहीं है। इसलिए, इस पर ज्यादा बात नहीं करूंगा। राजपूत समाज हमेशा बीजेपी से जुड़ा रहा है। मैं लोकेंद्र कालवी से मिला हूं। वे पार्टी में सीनियर रहे हैं। आगे भी मिलता रहूंगा। Rajasthan Elections 2018 

उन्होंन कहा, घनश्याम तिवाड़ी मेरे पुराने मित्र रहे हैं। उनसे भी बात करूंगा। हमने पुराने साथी डाॅ. किरोड़ी लाल मीणा को भी भाजपा से दोबारा जोड़ा है। हनुमान बेनीवाल से भी बात करेंगे। सबको साथ लेकर आगे बढ़ेंगे। किसी को नाराज नहीं रहने देंगे।

सवाल: भाजपा ने आपको अध्यक्ष बनाकर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का तोड़ निकालने की कोशिश की है?

प्रदेशाध्यष्क्ष सैनी ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा, कबड्डी के मैच में कोई काका नहीं होता। पूरी टीम का मकसद होता है कि सामने वाली टीम को हर हाल में पराजित किया जाए। मैं भी ऐसा ही काम कर रहा हूं, जिससे बीजेपी को विधानसभा चुनाव में फिर से विजय दिलाई जा सके। मेरे भाजपा अध्यक्ष बनने से किसका आधार कम होता है। यह सोचने का काम मेरा नहीं है। मेरा काम तो एक-एक कार्यकर्ता को सक्रिय कर चुनावी रण में फतह हासिल करना है। Rajasthan Elections 2018 

सवाल: राजस्थान में माना जाता है कि हर पांच साल बाद सत्ता बदल जाती है? आप इस ट्रेंड को कैसे तोड़ेंगे? फिर से सत्ता में आने के लिए क्या रणनीति बना रहे हैं? Rajasthan Elections 2018 

सैनी ने सवाल का जवाब देते हुए कहा, भाजपा जमीनी स्तर पर काम कर रही है। बूथ स्तर पर कार्यकर्ता पार्टी की नींव को मजबूत करने में जुटे हुए हैं। हर विधानसभा में, डिवीजन और जिले स्तर पर कार्यकर्ताओं को लगाया गया है, जो निरंतर पार्टी के लिए कार्य कर रहे हैं। इन कार्यकर्ताओं के जरिए न केवल बीजेपी राजस्थान में सत्ता में फिर से आएगी बल्कि पांच साल में सत्ता बदलने के ट्रेंड को भी खत्म करेगी। Rajasthan Elections 2018 

सवाल: सत्ता में आने से पहले भाजपा के घोषणा-पत्र में 15 लाख नौकरियों का वादा हुआ था, जो पूरा नहीं हुआ। राजस्थान में बहुत सी भर्तियां पूरी नहीं हो पाईं? बेरोजगारों की नाराजगी दूर करने की कैसे कोशिश करेंगे?

झुंझुनूं के रामेश्वर के इस सवाल का जवाब देते हुए प्रदेश अध्यक्ष सैनी ने कहा, देश की कोई भी सरकार प्रत्येक व्यक्ति को सरकारी नौकरी उपलब्ध नहीं करा सकती। सरकारें अपने क्षेत्र के लोगों के लिए रोजगार के अवसर जरूर उपलब्ध करा सकती है। यह काम वर्तमान बीजेपी सरकार ने भी किया है। उन्होंने आगे कहा, 15 लाख नौकरियों के आंकड़े को तो सरकार ने कुछ महीने पहले ही पूरा कर लिया है। Rajasthan Elections 2018 

जहां तक सरकारी नौकरियों का सवाल है, उसके लिए भर्तियां निकाली हैं। वर्तमान में बड़ी संख्या में राजे सरकार भर्तियां कर रही है। कुछ पुरानी भर्तियां जो कोर्ट के कारण लटकी हुई हैं। उनके लिए बीजेपी सरकार की ओर से पैरवी भी की जा रही है। जल्द ही प्रदेश में बड़ी संख्या में युवा बेरोजगारों को राजे सरकार सरकारी नौकरी देगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here