Ajmer Alwar Mandalgarh

राजस्थान में जल्द होने वाले उपचुनाव में अब 15 से भी कम दिन रह गए हैं। भाजपा और कांग्रेस दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दल इस उपचुनाव में जीत दर्ज करने के लिए जी—जान से जुटे हुए हैं। राजस्थान में इसी साल 2018 के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले हो रहे उपचुनावों को सेमीफाइनल माना जा रहा है। इसलिए दोनों ही प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस चुनाव प्रचार में किसी प्रकार की कमी नहीं छोड़ना चाहते हैं। साथ ही उपचुनाव जीतते हुए अगले चुनाव से पहले माहौल अपनी और करना चाहते हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh

गहलोत ने साधा पायलट पर निशाना – मुख्यमंत्री बनने का सपना देखने लगे हैं सचिन

हाल ही में दिसंबर, 2017 में प्रदेश में भाजपा के नेतृत्व वाली वसुंधरा राजे सरकार ने सफलतापूर्वक 4 साल पूर्ण किए हैं। इन चार साल में प्रदेश में जमकर विकास कार्य करवाए गए हैं। भाजपा सरकार चुनाव में विकास के नाम पर वोट मांग रही है। वहीं, विपक्षी दल कांग्रेस के पास भाजपा को नीचा दिखाने के लिए फिलहाल कोई चुनावी मुद्दा नहीं है। आइये जानते हैं अजमेर, अलवर और मांडलगढ़ में सुराज के चार साल में कितने विकास कार्य हुए हैं…. Ajmer Alwar Mandalgarh

अजमेर में ब्रह्मा मंदिर विकास सहित हजारों करोड़ों के हुए हैं विकास कार्य

राजस्थान में भाजपा की सरकार ने अपने वर्तमान चार साल के कार्यकाल में अब तक अरबों रुपये के विकास कार्य करवाएं हैं। अजमेर जिले में कई प्रमुख ​कार्यों सहित हजारों करोड़ों के विकास कार्य हुए हैं। चार साल में भाजपा की सरकार ने अजमेर को कई बड़ी सौगातें दी हैं। अकेले अजमेर उत्तर विधानसभा में 800 करोड़ रुपये के विकास कार्य हुए हैं। यह सीट शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवानानी की विधानसभा क्षेत्र है। Ajmer Alwar Mandalgarh

Ajmer Alwar Mandalgarh

अजमेर के विश्व प्रसिद्ध ब्रह्मा ​मंदिर को करोड़ों रुपये के विकास कार्यों से निखारा जा रहा है। साथ ही अजमेर के स्थित झीलों को निखारने का काम भी चल रहा है। इसके अलावा क्षेत्र में एमजेएसए के तहत हजारों की संख्या में जल साधनों का निर्माण हुआ है। अजमेर पिछले चार साल में बड़ी संख्या में सड़क निर्माण, विद्युतीकरण, विद्युतीकरण सुधार कार्य, स्वास्थ्य केंन्द्रों की स्थापना, पेयजल व्यवस्था के लिए कई परियोजनाएं, ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण, शिक्षा के क्षेत्र में विकास कार्य, विवेकानंद मॉडल स्कूलों का निर्माण, इंडोर स्टेडियम का निर्माण, अजमेर के पर्यटन स्थलों को निखारने के कई कार्य, महाराणा प्रताप स्मारक का निर्माण, हेरिटेज वॉक—वे का निर्माण, जमीन के पट्टे जारी करना सहित कई बड़े कार्य हुए हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh

अजमेर को सबसे बड़ी सौगात हवाई अड्डे के रूप में मिली है। राजे सरकार ने किशनगढ़ हवाई अड्डे के लिए प्रथम चरण में 161 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh

अलवर जिले में विकास की गंगा बही है विगत चार वर्षों में

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार ने विगत चार सालों में अलवर जिले में विकास को नया नाम दिया है। औद्योगिक दृष्टि से महत्वपूर्ण अलवर में हजारों करोड़ के विकास कार्य हुए हैं। जिले में बड़ी संख्या में सड़कों का निर्माण करवाया गया है। साथ ही मुख्यमंत्री आवासीय योजना में हजारों की संख्या में परिवार लाभान्वित हुए हैं। अलवर में बड़ी संख्या में ​स्कूलों को क्रमोन्नत किया गया है। पेयजल उपलब्ध कराने के लिए कई योजनाएं का निर्माण हुआ है। Ajmer Alwar Mandalgarh

Ajmer Alwar Mandalgarh

स्वास्थ्य केन्द्रों पर प्रर्याप्त चिकित्सा स्टाफ लगाने सहित भामाशाह चिकित्सा योजना में बडी संख्या में लोग लाभान्वित हुए हैं। सॉयल हेल्थ कार्ड स्कीम, अन्नपूर्णा भंडार, अन्नपूर्णा वैन रसोई योजना, किसान के हित में योजनाओं सहित कई योजनाओं से बड़ी संख्या में लोग लाभान्वित हुए हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अलवर जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा कर जनसंवाद कार्यक्रम के तहत लोगों की समस्याओं से रूबरू होकर उनका अतिशीघ्र समाधान करवाया है। Ajmer Alwar Mandalgarh

मांडलगढ़ में चहुंओर विकास कार्यों को मिली नई रफ्तार

भीलवाड़ा जिले के मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र की बात करें तो, यहां पिछले चार साल में विकास को नए पंख लगे हैं। राजे सरकार की विभिन्न योजनाओं को फायदा उठाकर लोगों के जीवन स्तर में बदलाव आए हैं। सरकारी की योजनाओं के तहत बने कुंड, तालाब, तलाई में वर्षा का पानी जमा होने से खेतों में दोनों फसलों के लिए पर्याप्त पानी की उपलब्धता रहती हैै। क्षेत्र में एमजेएसए योजना के तहत पेजयल व्यवस्था के लिए कई कार्य हुए हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh

स्कूली शिक्षा को और अच्छा बनाने के लिए पर्याप्त शिक्षकों की व्यवस्था की गई। क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने कई एमओयू किए हैं। बड़ी संख्या में युवाओं को रोजगार के लिए प्रशिक्षण दिलवाया गया है। साथ ही स्वरोजगार के लिए सरकार ने हरसंभव मदद की है। क्षेत्र में बड़ी संख्या में ग्रामीण गौरव पथों का निर्माण करवाया गया है। शुद्ध पेयजल के लिए बड़ी संख्या में आरओ प्लांट लगाए गए हैं। Ajmer Alwar Mandalgarh\

जिलेभर के 1694 दिव्यांग बच्चों को ट्रांसपोर्ट भत्ता एवं 992 दिव्यांग बच्चों को एस्कोर्ट भत्ता प्रदान किया गया है। जिले के 1895 विद्यालयों में ग्रीन बोर्ड एवं 1931 विद्यालयों में अक्षय पेटिका स्थापित की गई जिसमें कुल 624075 रुपए एकत्र किए जा चुके हैं। वहीं उत्कृष्ट विद्यालय योजना के प्रथम व द्वितीय चरण को मिलाकर जिले में 383 विद्यालय खोले गए। नामांकन उपलब्धि 52542 (2.98 प्रतिशत वृद्धि) रही। एसएसए की वार्षिक कार्य योजना 2017-18 में 7 नवीन विद्यालय भवन निर्माण के लिए 36.75 लाख रुपए प्रति विद्यालय भवन की दर से 255.15 लाख रुपए, 67 अतिरिक्त कक्षा-कक्ष निर्माण के लिए 7 लाख रुपए प्रति कक्षा-कक्ष की दर से 469 लाख रुपए एवं 48 विद्यालयों में मरम्मत कार्य के लिए 57.60 लाख रुपए को मिलाकर कुल 128 कार्याे के लिए 781.75 लाख का बजट दिया गया है। Ajmer Alwar Mandalgarh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here