Rajasthan Byelections 2018

हाल ही में गुजरात और हिमाचल में हुए विधानसभा चुनावों के बाद अब राजस्थान में उपचुनाव होने जा रहे हैं। राजस्थान में लोकसभा की दो सीट और विधानसभा की एक सीट पर उपचुनाव होना है। चुनाव आयोग ने हाल में इन उपचुनावों की वोटिंग तारीख और वोटिंग गणना की घोषणा की थी। चुनाव आयोग द्वारा जारी जानकारी के अनुसार, राजस्थान में होने जा रहे उपचुनावों के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 10 जनवरी थी। नामांकन के आ​खिरी दिन अलवर, अजमेर एवं मांडलगढ़ सीट पर गहमागहमी रही। इसके साथ ही चुनावी प्रचार भी तेज हो गया है। rajasthan byelections 2018

Read more – राजे और स्वराज: साथ मिलकर राजस्थान की इस बिटिया का किया सपना साकार

अजमेर लोकसभा सीट पर सबसे अधिक आए हैं नामांकन

अजमेर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए सबसे अधिक 27 नामांकन दाखिल हुए हैं। कांग्रेस—बीजेपी सहित निर्दलीय व अन्य पार्टियों के 22 प्रत्याशियों ने 27 नामांकन दाखिली किए हैं। नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 15 जनवरी है। अगर नाम वापसी की अंतिम तिथि ​तक उम्मीदवारों की संख्या 15 से कम नहीं हुई तो चुनाव आयोग को एक बूथ पर दो—दो मशीनें लगानी होगी। प्रदेश में सभी सीटों पर 29 जनवरी को मतदान होना है। मतदानों की गिनती और परिणाम 1 फरवरी को ​घोषित किया जाएगा। rajasthan byelections 2018

अलवर सीट पर 15 और मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर 18 प्रत्याशी मैदान में

अलवर लोकसभा सीट पर भाजपा की ओर से डॉ. जसवंत सिंह यादव ने नामांकन दाखिल किया है। उनकी टक्कर कांग्रेस के डॉ. करण सिंह यादव से होगी। अलवर लोकसभा सीट से 15 उम्मीदवार उपचुनाव के मैदान में खड़े हैं। मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर भाजपा के शक्ति सिंह हाड़ा का मुकाबला कांग्रेस के विवेक धाकड़ से होगा। शक्ति सिंह हाड़ा ने आ​खिर दिन नामांकन दाखिल किया। यहां से कांग्रेस—भाजपा सहित कुल 18 प्रत्याशी मैदान में हैं। कांग्रेस के एक बागी पूर्व प्रधान गोपाल मालवीय ने भी पर्चा भरा है। ​ rajasthan byelections 2018

भाजपा—कांग्रेस ने दोगुनी ताकत से शुरु किया चुनावी प्रचार

नामांकन के आखिरी दिन से दोनों प्रमुख दलों ने दोगुनी ताकत के साथ चुनावी प्रचार शुरु कर दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने बुधवार को अलवर में लोकसभा उपचुनाव के पार्टी प्रत्याशी डॉ. जसवंत सिंह यादव की नामांकन सभा में कांग्रेस पर निशाना साधा। परनामी ने कहा कि कांग्रेस 55 वर्षों तक सत्ता में रही, लेकिन गरीबों के लिए कुछ नहीं किया। कांग्रेस ने सिर्फ गरीबों को झूठे दिलासे देकर सत्ता हथियाने का काम किया। उधर, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने अजमेर में भाजपा पर जमकर प्रहार किया। उन्होंने श्रीनगर रोड़ पर आयोजित एक चुनावी सभा में कहा कि रघु शर्मा की जमानत सचिन पायलट ले रहा है। खैर, ये तो 1 फरवरी को आने वाला परिणाम ही बताएगा कि सचिन पायलट की बात में कितना दम है।

rajasthan byelections 2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here