राजस्थान की 14वीं विधानसभा का आखिरी बजट इस बार मार्च की बजाय फरवरी में पेश होने जा रहा है। यह बजट वित्तीय वर्ष 2018—19 के लिए पेश किया जाएगा। राजस्थान​ विधानसभा के इतिहास में संभवतया यह पहला मौका होगा जब वित्तीय बजट फरवरी में पेश किया जाएगा। प्रदेश में 29 जनवरी को दो लोकसभा सीट अजमेर व अलवर और एक विधानसभा सीट भीलवाड़ा जिले की मांडलगढ़ सीट पर उपचुनाव होने हैं। इन चुनावों के नतीजे 1 फरवरी को आएंगे इसके बाद राजस्थान विधानसभा का बजट पेश किया जाना है। राजस्थान में वर्ष 2018 के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसलिए यह 14वीं विधानसभा का अंतिम​ वित्तीय बजट होगा। बजट से लोगों की बहुत उम्मीदें होती है। हर वर्ग बजट में यही देखता है कि उसके लिए क्या खास है। ऐसे में वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली राजस्थान सरकार चाहेगी कि सभी वर्गों की आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए बजट पेश किया जाये। आइये जानते हैं मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बजट पर क्या कुछ कहा है…

विकास की जरूरतों और जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला होगा बजट

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने हाल ही में एक बैठक में कहा कि राज्य सरकार का पूरा प्रयास है कि राज्य का आगामी बजट प्रदेश के विकास की जरूरतों और जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला हो। उन्होंने कहा कि हमने बजट प्रक्रिया में समाज के सभी वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित करने का प्रयास किया है। विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों और प्रतिनिधियों से सुझाव लेकर धरातल की वास्तविकता पर आधारित बेहतर बजट तैयार किया जाएगा। सीएम राजे ने हाल ही में मुख्यमंत्री कार्यालय में स्वैच्छिक संगठनों, सिविल सोसायटी तथा उपभोक्ता मंच के प्रतिनिधियों के साथ बजट पूर्व संवाद की पहली बैठक को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। Budget

Read More: जानिए क्या है वसुन्धरा राजे के वायरल पोस्टर का सच ….

बजट को लेकर प्रदेश के सामने आॅनलाइन सुझाव का विकल्प Budget

Budget

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बैठक में कहा कि बीते चार साल सालों में बजट के माध्यम से प्रदेश ने विकास की नई ऊंचाइयां को छुआ है। इस विकास की कहानी में प्रदेश जनता की अहम भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि संवाद से ही विभिन्न क्षेत्रों की जरूरतों के बारे में जानकारी मिलती है। सभी के बहुमूल्य सुझावों से हम प्रदेश को तरक्की की राह पर ले जा रहे हैं। बजट को लेकर सारगर्भित एवं तार्किक सुझाव प्राप्त हों, इसके लिए हमने पूरे प्रदेश के सामने ऑनलाइन सुझाव देने का विकल्प भी रखा है। इसके माध्यम से हमें लगातार जनता के सुझाव मिल रहे हैं। जिन्हें विभागीय परीक्षणों के बाद बजट में सम्मिलित करने का प्रयास किया जाएगा। Budget

स्वैच्छिक संगठनों, सोसायटी तथा उपभोक्ता मंच के प्रतिनिधियों ने दिए महत्पपूर्ण सुझाव Budget

हाल में हुई इस बैठक में राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों से आए स्वैच्छिक संगठनों, सिविल सोसायटी तथा उपभोक्ता मंच के प्रतिनिधियों ने बजट को लेकर महत्वपूर्ण सुझाव दिए थे। इन प्रतिनिधियों ने पूर्व बजट में कई सुझावों को सम्मिलित करने पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का आभार व्यक्त किया। इससे पहले अतिरिक्त मुख्य सचिव वित्त डीबी गुप्ता ने बजट पूर्व संवाद की जानकारी देते हुए बताया कि राज्य बजट को अधिक समावेशी बनाने की प्रक्रिया के तहत वित्त विभाग की वेबसाइट पर करीब दो हजार सुझाव ऑनलाइन प्राप्त हो चुके हैं। प्रदेश के आमजन को उम्मीद है राजे सरकार का वित्तीय बजट आशा के अनुरूप ही आएगा। Budget

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here