राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अब हर रोज नए आयामों को छू रहा है। राजस्थान में शिक्षा के स्तर को सूधारने के लिए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा का अहम योगदान रहा है। मंगलवार को राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अपना 61 वां स्थापना दिवस मना रहा है। इस मौके पर स्टॉफ क्लब की ओर से प्रतिभा सम्मान समारोह का आय़ोजन किया गया। समारोह में उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी और शिक्षा राज्य मंत्री वासूदेव देवनानी ने शिरकत की।

31 हजार से 32 लाख का 61 सालों का सफर

उच्च शिक्षा मंत्री और शिक्षा राज्य मंत्री ने समारोह में बोर्ड स्टॉफ के प्रतिभावान बच्चों को सम्मानित किया गया 1957 को महज 31 हजार छात्रों के साथ स्थापित माध्यमिक शिक्षा बोर्ड आज 32 लाख विद्यार्थियों की परीक्षाएं करवा रहा हैइस मौके पर उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि राजस्थान बोर्ड ने देश में अपना अलग स्थान हासिल किया है और सबसे बड़ी बात कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने की दिशा में मील का पत्थर साबित हुआ है

बोर्ड परिक्षाओं का परिणाम 16 फीसदी बढ़ा
बोर्ड से जुड़े हर कार्य को ऑनलाइन करने से दूरस्थ स्थान पर बैठे विद्यार्थियों को भी अब काफी सुविधा मिलने लगी है इस मौके पर शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा क्रांति का दौर चल रहा हैबोर्ड का परीक्षा परिणाम पिछले तीन साल में साढ़े 16 फीसदी बढ़ा है तो वहीं सरकारी स्कूलों में भी शैक्षिक स्तर में काफी सुधार आया है देवनानी ने कहा कि स्कूली शिक्षा विद्यार्थियों में संस्कार पैदा करती है और इसके लिए जरूरी है कि विद्दार्थियों को प्राचीनतम भारतीय इतिहास, समुद्ध भारतीय वैज्ञानिक दृष्टिकोण पढ़ाया जाए इतना ही नहीं, देश दुनिया में होने वाले नवाचारों से भी विद्यार्थियों को जोड़ना जरूरी है

एजुकेशन फेस्टिवल से रचेगा राजस्थान इतिहास

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिक्षा राज्य मंत्री देवनानी ने कहा कि राजस्थान में शिक्षा को नए आयाम देने के लिए मुख्यमंत्री राजे ने कई नवाचार किए है। शिक्षा केवल बच्चों को ही नही अपितु प्रदेश के हर वर्ग को दि जा रही है। राजस्थान की मुख्यमंत्री राजे ने आगामी 5 और 6 अगस्त को राजधानी जयपुर में देश का पहला फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन आयोजित करने जा रही है जिससे राजस्थान के भविष्य का सुनहरा सपना देखा जा सकता है। इस कार्यक्रम में देश दुनिया के गणमान्य लोग और शिक्षण संस्थाएं शिक्षा क्षेत्र में हो रहे नवाचारों का आदान प्रदान करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here