हाल ही में राजस्थान की बहुप्रतिक्षित बाड़मेर रिफाइनरी का कार्य शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों द्वारा हो गया। इसकी के साथ प्रदेश में अब तक के सबसे बड़े निवेश वाले प्रोजेक्ट का कार्य शुरू हो गया है। राजस्थान की इस रिफाइनरी से देश को 2022 से ऊर्जा मिलनी शुरू हो जाएगी। रिफाइनरी राजस्थान के लाखों की संख्या में युवाओं की तकदीर बदलने वाली है। यह बात हम सब जानते हैं कि रिफाइनरी लगाना कोई आसान काम नहीं होता है। सिर्फ घोषणा करने या पत्थर लगाने से रिफाइनरी नहीं लग जाती। इसके लिए वो सभी जतन करने होते हैं जो इसके निर्माण की राह को आसान कर सके। Narendra Modi

राजस्थान के बाड़मेर में लगने जा रही रिफाइनरी का श्रेय सीधे—सीधे तौर पर प्रदेश के 7 करोड़ लोगों के बारे में सोचने वाली मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को जाता है। यह रिफाइनरी राजस्थान के लोगों के हित में सच्ची जनसेवक वसुंधरा राजे की जिद ही थी, उनके अथक प्रयासों से आखिरकार राजस्थान के लोगों का यह सपना पूरा हो पाया है। रिफाइनरी के कार्य शुभारंभ के अवसर पर पीएम नरेन्द्र मोदी ने राजे की मेहनत की तारीफ भी की, जिसके पीछे राजस्थान की राजनीति के कई मायने हैं…

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तारीफ में यह बोले पीएम मोदी Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाड़मेर जिले स्थित पचपदरा रिफाइनरी का कार्य शुभारंभ करने के बाद अपने ‘उद्बोधन’ में प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की जमकर तारीफ की। मोदी ने कहा कि, वसुंधरा जी, राजपरिवार के संस्कार के साथ राजस्थान का पानी पीने से मारवाड़ी संस्कार वाली भी है। उनका कहने का मतलब यह था, मारवाड़ी लोग बड़े बुद्धिमान होते हैं, अपने कम से कम निवेश में बड़ा फायदा कमाना जानते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि, वसुंधरा राजे वाली रिफाइनरी केन्द्र सरकार के लिए घाटे का सौदा है। इससे केन्द्र सरकार को 30,000 हजार का घाटा होगा। उन्होंने, मुख्यमंत्री राजे की तारीफ करते हुए कहा कि, वसुंधरा जी ने नए एमओयू के तहत राजस्थान के 40,000 करोड़ रुपये बचा लिए हैं। उन्होंने कहा कि उनकी जिद के आगे केन्द्रीय सत्ता वाली बीजेपी की सरकार को बात माननी पड़ी। यह सिर्फ भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ही हो सकता है जब कोई मुख्यमंत्री केन्द्र में अपनी ही सरकार से जिद पर अड़ जाये। पीएम ने सीएम राजे के बारे में कहा कि, उन्होंने केन्द्र सरकार को ज्यादा से ज्यादा चूसने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि, वसुंधरा जी ने बेहतर प्लान के साथ योजनाओं पर पैसे बचाने के लिए केन्द्र सरकार को प्रेरित किया है। Narendra Modi

Read More: सभी राज्यों में रिलीज होगी पद्मावत: सुप्रीम कोर्ट

प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ के क्या हैं राजस्थान की राजनीति में राजनीतिक मायने

पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की की गई तारीफों के कई राजनीतिक मायने हैं। उनकी इस बात से साफ हो गया कि राजस्थान विधानसभा के लिए 2018 में होने वाले चुनाव में वसुंधरा राजे के हाथों में ही प्रदेश की कमान होगी। राजे ही बीजेपी की ओर से राजस्थान मुख्यमंत्री के रूप में एकमात्र पसंद है। मोदी की इन बातों से उन सभी अफवाहों पर विराम लग गया जिसमें कहा जा रहा था कि आगामी चुनावों में कमान किसी ओर नेता के हाथों में हो सकती है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ही राजस्थान में होने वाले 2018 विधानसभा चुनावों में लीडर होगी। 2018 के चुनाव राजस्थान भाजपा राजे के नेतृत्व में ही लड़ेगी। बता दें, दिसंबर 2018 में राजस्थान सहित 10 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। वर्तमान में देश के 28 में से 19 राज्यों में भाजपा की सरकार है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व की और से संकेत मिल चुके हैं कि वसुंधरा राजे की राजस्थान बीजेपी की कमान संभालेगी। इससे पहले जयपुर आए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी यह बात कह चुके हैं कि अगले विधानसभा चुनाव वसुंधरा राजे के नेतृत्व में ही लड़े जाएंगे। Narendra Modi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here