सीकर के रामगढ शेखावाटी के पालास ग्राम पंचायत मुख्यालय पर सोमवार को लगा न्याय आपके द्वार शिविर गांव बागास के पांच भाइयों के लिए वरदान साबित हुआ। इन पांच भाइयों सुरजा, मुकना, पूरणा, गंगाराम व शीशपाल के बारह वर्ष पुराने मामले का निस्तारण इस शिविर में हुआ।

हुआ यूं कि बारह वर्ष पहले नथू पुत्र सुरजा ने सुरजा, मुकना, पूरणा व गंगाराम को 1.4853 हैक्टर व शिशपाल को 2.466 हैक्टर भूमि का हक त्याग किया था। उस समय पटवारी द्वारा नामांतरकरण भरते समय शिशपाल का पैतृक 1.4972 हैक्टर भूमि का हिस्सा संवहन से सुरजा, मुकना, पूरणा, गंगाराम के नाम शामिल हो गया। सोमवार को लगे शिविर में ये सब काश्तकार उपखंड अधिकारी पुष्कर राज शर्मा के समक्ष पेश हुए और राजस्व लोक अदालत में वाद दायर किया। एसडीएम व तहसीलदार ने मामले को समझा और पालास पटवार मंडल के पटवारी हरलाल सिंह पूनिया व गिरदावर उस्मान खान से रिकॉर्ड के संबंध में पूछताछ की। पटवारी ने रिकॉर्ड खंगाला और संबंधित कागजात एसडीएम के समक्ष पेश किए। इस पर एसडीएम, तहसीलदार, सरपंच निर्मला झाझझि़या, पटवारी व गिरदावर सहित आमजन की समझाइश से सभी खातेदारों ने राजीनामा पेश किया।

एसडीएम ने मौके पर ही पर्चा डिक्री जारी कर हल्का पटवारी को निर्देश दिए कि डिक्री के अनुसार नामांतरकरण दर्ज कर स्वीकृत कराए। पटवारी ने संबंधित डिक्री को नामांतरकरण संख्या 2 में दर्ज कर तहसीलदार को पेश किया। नामांतरकरण दर्ज करने के बाद जब एसडीएम ने संबंधित खातेदारों को खाते की नकल उपलब्ध कराई तो सभी काश्तकारों के चेहरे पर खुशी और सुकून देखते ही बना।