Rajasthan assembly election

राजस्थान विधानसभा के चुनाव जैसे जैसे नजदीक आ रहे है प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां भी तेज हो गई हैं। विधानसभा चुनाव में अब करीब एक माह का समय शेष है और अबतक दोनों ही प्रमुख राजनीतिक दलों ने अपने प्रत्याशियों की लिस्ट जारी नहीं की है। हालांकि बीजेपी व कांग्रेस दोनों ही दलों में प्रत्याशी चयन का काम अंतिम चरण में चल रहा है। माना जा रहा है कि दोनों ही दल दीपावली के बाद अपने प्रत्याशियों की सूची जारी करेंगे। Rajasthan Assembly Election

बीजेपी प्रत्याशी चयन में कई चरण का मंथन कर चुकी है। इसकी वजह यह है कि बीजेपी सिर्फ ऐसे उम्मीदवार मैदान में उतारना चाहती है जिनकी जीत के प्रति पार्टी विश्वस्त हो। Rajasthan Assembly Election

प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पहले ही आगामी विधानसभा चुनाव अपनी परंपरागत सीट झालरापाटन से लड़ने की घोषणा कर चुकी हैं। सीएम राजे के 16 नवंबर को झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र से नामांकन दाखिल करने की प्रबल संभावना जताई जा रही है। मुख्यमंत्री की घोषणा से पहले कयास लगाए जा रहे थे कि वे इस बार किसी दूसरे विधानसभा क्षेत्र से मैदान में उतर सकती है। लेकिन राजे ने घोषणा करते हुए इन सभी संभावनाओं पर विराम लगा दिया। Rajasthan Assembly Election

Read More: हिंदुस्तान का सरदार दुनिया का सबसे ऊंचा सरदार है: मोदी

हाल ही में झालावाड़ जिले के तीन दिवसीय दौरे पर रही मुख्यमंत्री राजे

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हाल ही में अपने गृह जिले झालावाड़ में तीन दिवसीय चुनावी दौरे पर रही। इस दौरान सीएम राजे पार्टी के बूथ महासंपर्क अभियान के तहत संगठन कार्यकर्ताओं और लोगों से मिलीं। रविवार को मुख्यमंत्री राजे ने झालावाड़ में प्रबुद्ध नागरिकों व व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों से मुलाकात की।

झालावाड़ के पृथ्वी विलास गेस्ट हाउस में हुई इस बैठक में शहर के वरिष्ठ नागरिकों, प्रबुद्धजनों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ झालावाड़-बारां सांसद दुष्यंत सिंह, आरपीजी चेयरमैन श्रीकृष्ण पाटीदार और आरपीएससी के पूर्व चेयरमैन श्यामसुंदर शर्मा भी मौजूद रहे। इससे पहले सीएम राजे ने आदर्श विद्या मंदिर स्कूल में संघ पदाधिकारियों से मुलाकात की। संघ पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में बारां विभाग प्रचारक विकास, जिला संघचालक डॉ. डीके जैन और राधेश्याम पारेता शामिल थे।

जब तक जिएंगी प्रदेश की जनता की सेवा करती रहेंगी

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रविवार शाम को जयपुर में आयोजित बीजेपी के दीपावली मिलन कार्यक्रम में मीडिया से मुखातिब हुई। राजे ने इस दौरान कांग्रेसी नेताओं के बयान पर पलटवार करते हुए कि कहा, राजस्थान में मेरी डोली आई थी और अर्थी ही वापस जाएगी। सीएम राजे ने इस बार तल्ख तेवर दिखाते हुए कहा कि वे जब तक जिएंगी राजस्थान की जनता की सेवा करती रहेंगी। राजे ने कहा कि उनका ऑरिजन पूछा जा रहा था, लेकिन यह प्रश्न पूछने वाले पहले यह तो बताएं कि उनका ससुराल और पीहर कहां हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here