vasundhara-raje

प्रदेश के सरकारी विद्यालयों और उन में पढ़ रहे बच्चों के अच्छे दिनों के लिए राज्य सरकार ने करीब 4 हजार 600 सेकेंड ग्रेड अध्यापकों की तैनाती कर रही है। राज्य सरकार ने प्रदेश के 4 हजार 600 द्वितीय श्रेणी शिक्षकों को प्रमोशन का तोहफा दिया है। यह सभी शिक्षक अब व्याख्याता कहलाएंगे। इन सभी व्याख्याताओं को  आगामी 15 दिन में राज्य के सरकारी स्कूलों में पोस्टिंग दी जाएगी। इन सहित अब तक शिक्षा विभाग रिकॉर्ड एक लाख से अधिक शिक्षकों को प्रमोशन व पोस्टिंग दी है।

यह भी पढ़ें: 6379 चयनित शिक्षकों को 15 जुलाई तक नियुक्ति देगी राजस्थान सरकार, पढ़े कब क्या होगा?

15 दिनों में मिलेगी पोस्टिंग

शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी ने जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षा विभाग में हाल ही में सम्पन्न विभागीय पदोन्नति की बैठक में 4 हजार 600 द्वितीय श्रेणी शिक्षकों को व्याख्याता के पद पर पदोन्नति दी गई है। विभिन्न विषयों में पदोन्नति को मंजूरी दी गई । इन सभी व्याख्याताओं को आगामी 15 दिनों में निदेशालय द्वारा कांउसलिंग के जरिए पोस्टिंग दी जाएगी। मंत्री देवनानी ने बताया कि राज्य सरकार ने पिछले तीन सालों में शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य किया है। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में राजस्थान के शिक्षकों की ज्यादातर समस्याओं का समाधान किया गया है।

government-schools

यह भी पढ़ें: राज्य सरकार करेगी 42 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती, कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री राजे ने लगाई मुहर

राजे सरकार ने शिक्षकों की समस्याओं का किया समाधान

प्रदेश के शिक्षकों की सबसे बड़ी समस्या लम्बे समय तक प्रमोशन नही होने की थी। हमने इस समस्या को गंभीरता से लिया और बड़े पैमाने पर पदोन्नति की । राज्य में एक लाख से ज्यादा शिक्षकों को प्रमोशन व पोस्टिंग दी गई है। यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है। देवनानी ने जानकारी दी की हाल ही में राजस्थान लोक सेवा आयोग के माध्यम से करीब 12 हजार नये व्याख्याताओं को भी पोस्टिंग दी गई है। काउंसिंग के जरिए पारदर्शी तरीके से उन्हें पोस्टिंग दी गई है। इसमें भी महिलाओं का विशेष ध्यान रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here