Barmer Refinery Modi

राजस्थान के लिए मंगलवार का दिन स्वर्ण अक्षरों में दर्ज हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज देश की पहली इको फ्रेंडली रिफाइनरी का कार्य शुभारंभ किया। बाड़मेर के पचपदरा में बनने वाली इस रिफाइनरी की लागत करीब 43 हजार करोड़ रुपए है। चार वर्ष में बनकर तैयार होने वाली यह रिफाइनरी बीएस-6 मानक पर बनेगी। एचपीसीएल और राजस्थान सरकार के संयुक्त उपक्रम के तहत​ इस रिफाइनरी का निर्माण किया जाएगा।  Barmer Refinery ModiBarmer Refinery Modi

आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रिमोट बटन दबाकर कार्य शुभारंभ पचपदरा स्थित रिफाइनरी का कार्य शुभारंभ करने के बाद विशाल जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने अपने उद्बोधन की शुरुआत राजस्थानी अंदाज में ‘खम्मा घणी’ के साथ की। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मुझे अधिकारियों ने विश्वास दिलाया है कि 2022 में देश जब आजादी के 75वें साल का जश्न मना रहा होगा, रिफाइनरी का उद्घाटन हो जाएगा।’ उन्होेंने कहा बाड़मेर रिफाइनरी से देश को नई ऊर्जा मिलनी शुरू हो जाएगी। मोदी ने कहा कि राजस्थान में 5 साल के भीतर रिफाइनरी से बड़ा बदलाव आने वाला है। Barmer Refinery Modi

Read more: मेहनत के दम पर ऐसे बनीं राजस्थान की मुख्यमंत्री : वसुंधरा राजे के जीवन से जुड़े दस अहम तथ्य

Barmer Refinery Modi

पीएम मोदी ने आज बाड़मेर​ रिफाइनरी के कार्य शुभारंभ के मौके पर कहा कि  यह संकल्प से सिद्दी का समय है। उन्होंने कहा ​​कि उन्हें यहां से विश्वास दिया गया है कि जब वर्ष 2022 में देश आजादी के 75 वर्ष का जश्न मना रहा होगा तब यहां से रिफाइनरी का कार्य प्रारंभ हो जाएगा।  Barmer Refinery Modi

पीएम मोदी ने इस मौके पर राजस्थान की मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि वसुंधरा राजे में राजपरिवार के साथ मारवाड़ी गुण भी है। इसलिए वे राजस्थान का 40 हजार करोड़ रुपए बचाने में कामयाब रही है।  Barmer Refinery Modi
Barmer Refinery Modi
पीएम मोदी ने इस मौके पर इजरायल के हाइफा को मुक्त कराने में राजस्थान के वीर सपूतों के योगदान को याद किया। मोदी ने मेजर दलतप सिंह शेखावत को प्रणाम करते ​हुए हाइफा युद्ध के बारे में याद​ दिलाया। Barmer Refinery Modi

कांग्रेस पर साधा निशाना

– कांग्रेस की कार्यशैली का हिस्सा है कि सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें करना। वे सिर्फ पत्थर लगाना जाने है। 
– रेलवे बजट में 1500 से ज्यादा कांग्रेस ने ऐसी घोषणाएं कि जिनका आज तक नामो​निशान नहीं है। 
– वन रैंक वन पेंशन में भी कांग्रेस ने फौजियों के साथ छल किया। इस कार्य के लिए बजट में भी सिर्फ दिखावा किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here