jasoda-ben

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी की धर्मपत्नी जसोदा बेन रविवार को मध्यप्रदेश, भोपाल के राजगढ़ में पहुंची। जसोदा बेन राजगढ़ में अपने एक रिश्तेदार के यहां सगाई समारोह में भाग लेने के लिए आयी थी। अपने भाई अशोक कुमार के साथ जसोदा बेन ऊंझा गुजरात से साबरमती ट्रेन के जरिए सुबह ब्यावरा पहुंचीं थी। फिर अपने रिश्तेदारों के साथ कार में बैठकर वह पौने दस बजे फिजा गार्डन पहुंची। जसोदा बेन के आने की बात सुनकर कई मीडिया वाले उन तक पहुँच गए थे। लेकिन जसोदा बेन ने बड़ी शालीनता से मीडिया से दूरी बनाई रखी।

बिजली गुल हुई, लेकिन असहज नहीं हुई जसोदा बेन:

जब जसोदा बेन राजगढ़ में थी तब शहर में बिजली चली गई थी। गर्मी के इस मौसम में पहले तो जसोदा बेन ने आधा घंटा बिजली आने का इंतज़ार किया। लेकिन बाद में जब बिजली नहीं आयी तो जसोदा बेन अपने दिनचर्या के कामों में लग गईं। बिजली गुल हो जाने पर हुई अव्यवस्थाओं में भी जसोदा बेन असहज नहीं हुई। इस दौरान जसोदा बेन ने अपने काम निपटाए और फिर शाम को मंदिर भ्रमण कर पूजा की।

भक्तिभाव का स्वभाव है जसोदा बेन का:

जसोदा बेन की ईश्वर में प्रबल आस्था है। वह जहाँ भी जाती है, पूजा का सामान हमेशा उनके साथ दिख ही जाता है। सादा और सरल जीवन जीने वाली जसोदा बेन करीब सवा घंटे पूजा-पाठ और मंत्रोच्चारण करने के  बाद ही आहार लेती हैं। राजगढ़ पहुंची जसोदा बेन ने सुबह करीब 11 बजे अपने कमरे के द्वार की पूजा कर पास में स्थित मनकामनेश्वर मंदिर पहुंची। जहां पीपल को जल चढ़ाने के बाद कच्चा सूत बांधा। इसके बाद दूध और जल से शिवजी का अभिषेक कर उन्होंने मां दुर्गा जी की प्रतिमा को माला पहनाई। बाद में जसोदा बेन ने परिसर में स्थित राधाकृष्ण व रामजानकी मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की।

मीडिया व अन्य लोगों से ज़्यादा बात नहीं करती:

धार्मिक स्वभाव वाली जसोदा बेन मीडिया या अन्य लोगों से बेवज़ह की बात करना पसंद नहीं करती। साथ ही अपने निजी जीवन के बारे में चर्चा भी नहीं करती है। जसोदा बेन के भाई अशोक ने बताया कि मीडिया व समाचार समूहों से जुड़े लोगों से जसोदा बेन अधिकांश दूर रहती है। बेवज़ह सुर्ख़ियों में आना उन्हें पसंद नहीं है। राजगढ़ में भी मीडिया वालों व लोगों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए वह आराम करने सर्किट हाऊस चली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here