जल स्वावलंबी गांवों के निर्माण के उद्देश्य से चलाए गए मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत पहाड़ों की धरा डूंगरपुर जिले में जल संरक्षण के पांच हजार तीन सौ सोलह से अधिक कार्यों को पूर्ण कराया गया है। वर्षा ऋतु में पहाड़ों से व्यर्थ बहकर जाने वाले पानी को सहेजकर पहाड़ों की प्यास बुझाने के लिए दर्रों में बहुत सारे मिनी परकोशन टेंक्स का निर्माण करवाया गया है और इसके माध्यम से लाखों लीटर पानी की बचत की गई है। एक ऎसा ही कार्य है ग्राम पंचायत देवलखास अंतर्गत मनातफला में जहां मात्र 9 लाख रुपयों की लागत से 30 हेक्टेयर भूमि पर जलसंरक्षण के कार्य संपादित किए गए हैं।

आमतौर पर सूखे दिखाई देने वाले इस पहाड़ के दर्रों में बनी एमपीटी इन दिनों पहली ही बारिश में पानी से लबालब हो गई है। बुधवार को इस समूचे क्षेत्र का उदयपुर के ड्रोन एक्सपर्ट श्री भानु मालवीय ने क्लिक किया तो चित्र में मनातफला का यह समूचा पहाड़ मुस्कराता हुआ प्रतीत हुआ। जलग्रहण विभाग के अधीक्षण अभियंता श्री सीएल सालवी ने बताया कि इस कार्य के तहत 1600 मीटर सीसीटी, 8 एमपीटी का निर्माण और तालाब डीसिल्टिंग एवं रिनोवेशन के कार्यों के बाद प्रत्येक एमपीटी पर पौधरोपण का कार्य जारी है।