Treatment of Injured Birds

राजस्थान की राजधानी जयपुर में मकर संक्रांति को लेकर खास व्यवस्था की गई है। दरअसल,   मकर संक्रांति पर घायल पक्षियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट में एक बैठक आयोजित हुई। इसमें जिला प्रशासन, वन विभाग के अलावा श्री कल्पतरू संस्थान एवं रक्षा संस्थान के प्रतिनिधि मौजूद रहे। बैठक में पतंगों के मांझे से पक्षियों के अंग कटने को लेकर उपचार व्यवस्था पर चर्चा की गई। जिसमें तीन उपचार सुविधा केन्द्र निर्धारित किए गए हैं। यहां पक्षियों का उपचार करवाया जा सकता है या संपर्क कर घायल पक्षियों की सूचना दी जा सकती है। Treatment of Injured Birds

Read More: राजस्थान: अशोक गहलोत ने साधा पायलट पर निशाना – मुख्यमंत्री बनने का सपना देखने लगे हैं सचिन

 यहां दी जा सकती है घायल पक्षियों के बारे में सूचना Treatment of Injured Birds

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (तृतीय) डॉ. प्रवीण कुमार ने कहा कि मकर संक्रांति पर मांजे से घायल पक्षियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न उपचार केन्द्रों पर व्यवस्था रहेगी। घायल पक्षियों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए श्री कल्पतरू संस्थान के जवाहर सर्किल स्थित भवन (सम्पर्कः 9983809898), अल्बर्ट हॉल पर रक्षा संस्थान  (सम्पर्कः 9828500065) तथा वन विभाग के अशोक विहार उपचार केन्द्र (सम्पर्कः 9414869781) पर घायल पक्षियों का समय पर उपचार उपलब्ध कराने के लिए सम्पर्क किया जा सकता है। Treatment of Injured Birds

ये रहे बैठक में उपस्थित: Treatment of Injured Birds

इसके अतिरिक्त मकर संक्रांति के अवसर पर जयपुर शहर में पशु चिकित्सा पॉली क्लिनिक सहित समस्त अधीनस्थ चिकित्सा केन्द्र भी खुले रहेंगे। बैठक में वन विभाग के सहायक वन संरक्षक मनफूल विश्नाई, जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक आर.के. आमेरिया तथा कल्पतरू संस्थान के विष्णु लाम्बा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। Treatment of Injured Birds

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here