Rajasthan Budget

राजस्थान की 14वीं विधानसभा के लिए 10वां विधानसभा सत्र शुरू हो चुका है। हाल ही में विधानसभा सत्र की शुरूआत प्रदेश के राज्यपाल कल्याण सिंह के अभिभाषण के साथ हुई। अब संभावना है कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 12 फरवरी को बजट पेश कर सकती हैं। यह राजस्थान विधानसभा का अंतिम बजट सत्र भी है। राजे सरकार द्वारा पेश किया जाने वाला बजट कई मायनों में खास होगा। बजट से विभिन्न क्षेत्रों के लोगों को बहुत उम्मीद है। इसके साथ ही कई वर्ग के लोगों को बजट में बड़ी सौगातें भी मिल सकती है। ऐसी उम्मीद की जा रही है। अंतिम बजट सत्र होने के नाते सरकार कई बड़ी और महत्वपूर्ण घोषणाएं कर सकती है। आइये जानते हैं संभवतया सोमवार को पेश होने जा रहे राजस्थान बजट में क्या दो बड़ी घोषणाएं हो सकती हैं..

प्रदेश के किसानों का हो सकता है 50 हजार तक ऋण माफ.. Rajasthan Budget

राजस्थान में किसानों की बड़ी मांगों में से एक किसान कर्ज माफी भी है। प्रदेश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है। यहां बड़ी आबादी कृषि और कृषि से जुड़े उद्योगों पर टिकी हुई है। ऐसे में 14वीं विधानसभा के आखिरी बजट में किसानों को बड़ी राहत देते हुए राजे सरकार किसानों का 50 हजार रुपये तक का ऋण माफ की घोषणा कर सकती है। बता दें कि पिछले साल हुए किसान आंदोलन के दौरान सीएम राजे ने किसानों की सभी 14 सूत्रीय मांगों को मानते हुए बड़ी राहत दी थी। साथ ही यूपी, महाराष्ट्र, केरल, पंजाब जैसे राज्यों की तर्ज पर कर्ज माफी के लिए एक विशेष कमेटी गठित की थी। जिसके बाद अब वसुंधरा राजे सरकार अब पेश होने जा रहे बजट में किसानों को बड़ी राहत देते हुए कर्ज माफी की घोषणा कर सकती है।

Read More: Pariksha par Charcha: PM Modi will now ease stress of students

राजस्थान में बन सकते हैं कुछ नए ज़िले… Rajasthan Budget

राजस्थान क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य है। प्रदेश में अभी कुल 33 जिले हैं। अंतिम 33वें जिला के रूप में 2008 में प्रतापगढ़ की वसुंधरा राजे सरकार ने ही घोषणा की ​थी। इसके बाद राजस्थान में लंबे समय से नए जिलों के गठन की मांग हो रही थी जो अब इस बजट में संभवत पूरी होने जा रही है। प्रदेश के 24 जिलों से जिला बनाने की मांग लंबे समय से हैं। हाल ही में वसुंधरा राजे कैबिनेट ने राजस्थान में 5 नए जिलों के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। जिसके बाद माना जा रहा है कि इस विधानसभा के अंतिम बजट में 5 नए जिलों की घोषणा की जा सकती है। नए जिले पर पांच साल के दौरान करीब 900 करोड़ रुपए का खर्च करने होंगे। इसके अलावा सालाना करीब 150 करोड़ का रिकरिंग खर्च होगा। नए बनने वाले पांच जिलों में ब्यावर, शाहपुरा, डीडवाना, बहरोड़ और बालोतरा को नए जिलें बनाने की घोषणा की जा सकती है। हालांकि, कुछ समय पहले सवाई माधोपुर के गंगापुर सिटी में भी जिले बनाने के लिए जमीन अंकित की जा रही थी। Rajasthan Budget

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here