जयपुर आयुक्तालय के कानोता थाना क्षेत्र में जयपुर-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार सुबह कोहरे के कारण एक के पीछे एक 45 वाहनों के आपस में भिड़ंत हो गई। एक के बाद एक 45 वाहन एक दूसरे में घुस गए। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई जबकि 70 से ज्यादा घायल हुए। गंभीर घायल 41 लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया। बताया जा रहा हैं कि सुबह राजमार्ग पर धुंध और कोहरा होने के कारण संभवत: किसी एक वाहन के अचानक ब्रेक लगाये जाने के कारण एक के पीछे एक वाहन आपस में भिड गये।

वाहनों के आपस में भिड़ जाने से आगरा से जयपुर की ओर आ रहे वाहनों की लंबी कतार लग गई, जिसके चलते राजमार्ग दो घंटे तक अवरुद्ध रहा। दुर्घटनाग्रस्त वाहनों को राजमार्ग से हटाकर राजमार्ग को यातायात के लिये खोल दिया गया है। घायलों को स्थानीय और जयपुर के सवाईमानसिंह चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

दो युवकों की हो गई मौत

कानोता में हुए इस भीषण सड़क हादसे में दो युवकों की मौत हो गई। मृतकों में सोहेल एवं मूलचंद हैं जो कि सैंथल दौसा के रहने वाले हैं।

 

गाड़ियां हटाने के लिए आई तीन क्रेन

नौ बजे तक पुलिस और एंबुलेंस मौके पर पहुंचने लगी और लोगों को अस्पताल भिजवाया जाने लगा। वाहनों को हटाने के लिए तीन क्रेन भी आई। एंबुलेंस में जगह नहीं होने से घायल प्रेमनारायण को लेकर ट्रोमा सेंटर पहुंचे। रविवार होने के बावजूद यहां ट्रॉली और पूरा स्टाफ मिला और तुरंत घायल को लेकर इमरजेंसी में पहुंचा। यहां पहुंचे लोग बदहवास थे और उन्हें कुछ सूझ नहीं रहा था। स्टाफ उन्हें इलाज के साथ तसल्ली दे रहा था। लेकिन अस्पताल में जैसे ही डॉक्टर्स ने मूलचंद कोली की मौत की जानकारी अस्पताल में कोहराम मच गया। लोग अपनों को पूछने के लिए वार्डों और आईसीयू में घुसने की जिद करने लगे। उन्हें जैसे-तैसे समझाया गया। करीब दो बजे सोहेल खान की मौत की सूचना मिली। अस्पताल में भर्ती घायलों के परिजन हर पल डॉक्टर्स से पूछताछ करते रहे। रात 11 बजे तक भी अस्पताल में सैकड़ों लोग मौजूद रहे।

हाइवे जाम

वहीं दूसरी ओर हादसे के बाद हाइवे पर जाम की स्थिति पैदा हो गर्इ। वाहनों को क्रेन के जरिए मौके से हटाया गया। हम आपको बता दें कि जयपुर में रविवार सुबह कर्इ इलाकों में घना कोहरा नजर आया। आलम ये था कि कोहरे के कारण कुछ दूरी तक देखना तक संभव नहीं हो पा रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here