LPG Connections

मोदी सरकार की कई योजनाएं ग्रामीण भारत और गरीब परिवारों के लिए जीवनदायिनी साबित हो रही है। वर्तमान केन्द्रीय सरकार के सत्ता में आने से पहले तक बड़ी संख्या में ग्रामीण भारतीय परिवार खाना पकाने के लिए मिट्टी के चूल्हे और लकड़ी का उपयोग किया करते थे। जिससे घरों में कई घंटों तक धुंआ बना रहता था। LPG Connections

यह धुंआ खासकर आंखों के लिए बेहद हानिकारक होता है। वर्तमान सरकार ने देश की बड़ी आबादी को इस हानिकारक धुंए से बचाने के लिए ‘प्रधानमंत्री उज्जवला योजना’ की शुरूआत की। योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र में गरीब परिवारों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन दिया जाता है। मोदी सरकार की यह योजना ग्रामीण क्षेत्र की आबादी को धुंए से निजात दिलाने में मददगार साबित हो रही है। इसी योजना के तहत अब पूर्वोत्तर भारत में बड़ी संख्या में गरीब परिवारों को कनेक्शन दिए जाएंगे।

हाल ही में सार्वजनिक तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आईओसी) ने कहा कि कंपनी पूर्वोत्तर के 6,741 गांवों में गरीब महिला लाभार्थियों को 6.55 लाख गैस कनेक्शन सरकार की इस योजना में ​वितरित करेगी। आईओसी का कहना है कि ग्रामीण भारत के घरों को धुंआ रहित बनाने की केंद्र सरकार की पहल के तहत यह गैस कनेक्शन दिए जाएंगे।

Read More: आरक्षण न खत्म होगा, न होने देंगे..

प्रधानमंत्री मोदी की पहल के तहत महिलाओं के नाम पर दिए जाएंगे एलपीजी कनेक्शन ​

आईओसी के मुख्य महाप्रबंधक (इंडियन ऑयल-एओडी) उत्तया भट्टाचार्य ने कहा, ‘हमने गांवों को धुंआ मुक्त बनाने के लिए कार्यक्रम शुरू किया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा घोषित इस पहल के तहत हम घरों में महिलाओं के नाम पर एलपीजी कनेक्शन देंगे।’ उन्होंने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान के तहत कंपनी पूर्वोत्तर के 6,741 गांवों में 6.55 लाख परिवारों को एलपीजी कनेक्शन देगी। इसमें असम के 3,042 गांवों में 2.4 लाख नए कनेक्शन भी शामिल हैं। उन्होंने आगे बताया कि यह कार्यक्रम शुरू हो गया है और पांच मई को खत्म होगा। इस योजना में महिला लाभार्थियों का चयन सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना सूची के आधार पर होगा। LPG Connections

LPG Connections

इसके साथ ही बीपीएल परिवारों-एससी/ एसटी परिवार, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), अंत्योदय अन्न योजना, वन निवासियों, अति पिछड़ा वर्ग, चाय और पूर्व में चाय बागान में काम करनी वाली जनजातियां और द्वीप और नदी के द्वीपों के किनारे रहने वाले लोग में से होगा। इन परिवारों को जल्द गैस कनेक्शन उपलब्ध करा धुंए से मुक्त किया जाएगा।

एलपीजी आयात करने वाला दूसरा बड़ा देश बन गया भारत LPG Connections

इंटनरनेशनल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वैश्विक स्तर पर एलपीजी आयात करने वाला भारत दुनिया का दूसरा बड़ा देश बन गया है। लिस्ट में पहले पायदान पर चीन है, लेकिन जिस गति से भारत में एलपीजी की मांग बढ़ रही है उस हिसाब से वह जल्द ही पड़ोसी देश को भी पीछे छोड़ देगा। बता दें कि भारत क्रूड ऑयल के आयात में भी तेजी से आगे बढ़ रहा है, भले ही वह अमेरिका और चीन से पीछे है, लेकिन उसने साल 2016 में जापान को पीछे छोड़ दिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक गरीबों को दी जाने वाली गैस की मांग साल 2017-18 में 8 फीसदी बढ़ गई है। सरकारी आकंड़ों को देखा जाए तो भारत ने 2017-18 के बीच करीब 11 मिलियन टन एलपीजी का आयात किया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत जिस तरह गरीब परिवारों में एलपीजी मुहैया कराने में जुटा है, उस हिसाब से आने वाले 10 वर्षों में वह आयात का सबसे बड़ा दावेदार बन जाएगा। LPG Connections

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here