अमेरिका की विदेश नीति से जुड़ी एक प्रमुख मैगजीन ने साल 2017 के लिए आठ शक्तिशाली राष्ट्रों की सूची में भारत को छठे स्थान पर रखा है।  इस सूची में अमेरिका पहले स्थान पर है।  इस सूची में चीन और जापान को संयुक्त तौर पर दूसरा स्थान मिला है।  इसके अलावा सूची में रूस (चौथे) और जर्मनी (पांचवें) भारत से आगे हैं।  ईरान को सातवें जबकि इस्राइल को आठवें पायदान पर रखा गया है।  मैगजीन ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की तारीफ की है।

भारत तेजी से आगे बढ़ती आर्थिक ताकत

‘द अमेरिकन इंट्रेस्ट’ मैगजीन ने आठ महान वैश्विक ताकतों से जुड़ी अपनी सालाना रिपोर्ट में कहा, ‘जापान की तरह भारत को भी विश्व के शक्तिशाली देशों की सूचियों में अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है, लेकिन वैश्विक मंच पर इसका स्थान दुर्लभ और उल्लेखनीय है। ’ मैगजीन में कहा गया है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है, जहां अंग्रेजी बोलने वाली दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी रहती है।  इसके साथ ही भारत एक विविधता से परिपूर्ण तेजी से आगे बढ़ती आर्थिक ताकत है।

हर ताकत चाहता है भारत से सहयोग

पत्रिका के अनुसार भू-राजनीतिक परिप्रेक्ष्य में देखें तो चीन, जापान और अमेरिका सभी अपने एशियाई सुरक्षा ढांचे को लेकर भारत के साथ सहयोग को लेकर उत्सुक हैं।  वहीं यूरोपीय संघ और रूस आकर्षक व्यापार और रक्षा समझौतों के लिए नई दिल्ली की तरफ देखते है।

नरेंद्र मोदी की तारीफ 

पत्रिका ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आर्थिक सुधारों के आधुनिकीकरण के साथ अपनी क्षमता के उपयोग के जरिये भारत ने चतुराई से इन प्रतिद्वंद्वी शक्तियों से अलग अपनी राह बना ली है। ‘ पत्रिका के मुताबिक नोटबंदी के बाद उत्पन्न आंतरिक समस्याओं और पाकिस्तान के भय के बावजूद भारत ने 2016 में अपने पांव और मजबूती से जमाए हैं।

अमेरिकन इंट्रेस्ट ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘मोदी ने अमेरिका और जापान के साथ नए नौसैनिक सहयोग कायम करने में सफलता हासिल की है और उन्होंने भारतीय सेना को आधुनिक बनाने के लिए रूस, फ्रांस तथा इजराइल के साथ भी कई रक्षा समझौतों पर दस्तखत किए हैं। ‘

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here