aadhar-card

देश में ‘आम आदमी का अधिकार’ ”आधार कार्ड” अब आम आदमी के जीवन का आधार बनने वाला है। आज एक जुलाई, 2017 से सरकार ने हमारी जीवनशैली में सम्मिलित कई अहम सेवाओं के लिए आधार को ज़रूरी बना दिया है। अब ऑनलाइन माध्यम से अपना कर अदा करने से लेकर पासपोर्ट बनवाकर विदेश जाने और स्कॉलरशिप लेने तक अनेकों सरकारी काम के लिए 16 डिजिट का ‘आधार’ नंबर देना होगा। सरकारी सेवाओं और सुविधाओं को सीधे हक़दार तक पहुँचाने और बेवज़ह का फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सरकार ने यह व्यवस्था की है। यह गौरतलब है कि देश की 85% से ज्यादा आबादी ‘आधार’ से जुड़ चुकी है। सरकारी प्रयासों और आमजन में जागरूकता से आधार अब लाभकारी  योजनाओं से जुड़कर सरकार की नीतियों और कार्यप्रणाली को आमजन के लिए पारदर्शी बना रहा है। हालांकि अभी भी कई सरकारी योजनाओं का लाभ 30 सितंबर तक बिना ‘आधार’ कार्ड के भी मिल सकेगा।

पासपोर्ट बनवाना है तो पहले आधार बनवाइए:

जी हाँ, आज से यदि आपको पासपोर्ट बनवाना है तो इसके लिए ज़रूरी है, कि आपके पास आपकी पहचान के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड हो।  देशभर में यूनिक आइडेंटिटी के तौर पर स्थापित हो चुका आधार कार्ड ही अब आपको देश से बाहर घूमने के लिए ज़रूरी वैश्विक पहचान पत्र यानि आपका ‘पासपोर्ट’ दिलवाने का काम करेगा।

पैन कार्ड से आधार लिंक होना ज़रूरी:

टैक्स चौरी रोकने और बैंकिंग लेन-देन में पारदर्शिता लाने के लिए अब सरकार ने पैन कार्ड से आधार कार्ड के नंबर जोड़ना अनिवार्य कर दिया है। यदि आप पैन कार्ड धारक हो तो आपको अपने आधार नंबर इससे लिंक करवाना होगा और यदि आप नया पैन कार्ड बनवाते हो तो भी आपको अपना आधार नंबर उससे जुड़वाना ही पड़ेगा। सरकार की इस व्यवस्था से अब सरकार और आमजन दोनों को ही लाभ मिलेगा। ऑनलाइन तरीकें से पैन कार्ड द्वारा आयकर अदा किया जा सकता है। लेकिन टैक्स चौरी कर सरकार को धोखें में रखने के लिए कई लोग 2-3 पैन कार्ड बनवा लेते है। एक बार जब आधार नंबर पैन कार्ड से लिंक हो जायेंगे तब इस तरह का फर्जीवाड़ा बंद हो जायेगा।

रेलवे टिकट से लेकर राशन तक सभी जगह आधार कार्ड ज़रूरी:

सरकार ने अपनी सभी योजनाओं को आधार नंबर से जोड़ने की पूरी तैयारी कर ली है। अभी धीरे-धीरे इस ओर कदम बढ़ाया जा रहा है। आज एक जुलाई से देशभर में रियायत पर रेलवे टिकट लेना हो, छात्रवृत्ति का फायदा उठाना, पीएफ के पैसे निकलवाना हो, या राशन का सामान लेना हो, आधार कार्ड इन सभी में काम आने वाला है।

सरकार की कार्यप्रणाली के अनुसार अब रेलवे का रियायती टिकट तभी मिल पायेगा जब आपके पास अपना आधार होगा। इससे पात्र व्यक्ति को ही छूट मिलेगी। कोई भी किसी तरह से गलत पहचान बताकर सरकारी रियायत का फायदा नहीं उठा पायेगा।

अगर सरकारी स्कूल या कॉलेज से छात्रवृत्ति भी प्राप्त करनी हो तो भी आपके पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।

अगर आपके नाम पर प्रोविडेंट फण्ड (पीएफ) अकाउंट है तो उसे भी जल्द ही आधार से लिंक करवा लीजिये। क्योंकि अब पीएफ के सेटलमेंट की प्रक्रिया आसान होने वाली है।

बिना आधार नंबर के अब सरकारी रियायत पर मिलने वाला राशन भी प्राप्त नहीं होगा। इससे सरकार और जनता को आवश्यक रूप से फायदा होगा। क्योंकि फ़र्ज़ी नाम और पते से कोई भी आमजन का हक़ नहीं मार सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here