• ‘ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट‘ 9 से 11 नवम्बर तक
  • प्रदर्शनी; जाजम चौपाल; ऑर्गेनिक खेती के लिए विषेश पैवेलियन और स्मार्ट फार्म
  • राजस्थान के राज्यपाल; केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री, और स्वामी रामदेव जी महाराज होंगे उद्घाटन सत्र में शामिल
  • तीन दिवसीय ’ग्राम 2016’ में शमिल होंगे 50,000 किसान

सीतापुरा के जयपुर एग्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर (जेईसीसी) में तीन दिवसीय ‘ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट 2016‘ (‘ग्राम‘) की कल, 9 नवम्बर को शुरूआत होगी। राजस्थान के राज्यपाल, श्री कल्याण सिंह उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री, श्री परशेत्तम रूपाला; राजस्थान की मुख्यमंत्री, श्रीमती वसुंधरा राजे और स्वामी रामदेव जी महाराज भी उपस्थित रहेंगे।

यह राजस्थान सरकार एवं फैडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जा रहा है।
उल्लेखनिय है कि ‘ग्राम‘ में लगायी जाने वाली प्रदर्शनी इसकी मुख्य विशेषताओं में से एक होगी। ‘ग्राम‘ के दौरान कुल 20,000 वर्ग मीटर क्षेत्र को प्रदर्शनी एरिया के लिये निर्धारित किया गया है। प्रदर्शनी क्षेत्र को विभिन्न श्रेणियों में विभाजित किया जाएगा, जिनमें पशुधन, पोस्ट हार्वेस्टिंग टेक्नोलॉजीज, एग्री इनपुट्स एवं प्रोटेक्टेड कल्टीवेशन, आर्गेनिक फार्मिंग, फूड एवं फूड प्रोसेसिंग टेक्नोलॉजीज, कृषि मशीनरी, इम्पलिमेंट्स एवं अलाइड सर्विसेज, वित्तीय संस्थाएं, सिंचाई, प्लास्टिकल्चर एवं प्रिसिजन फार्मिंग कुछ प्रमुख क्षेत्र हैं।

कृषि-उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए स्टार्ट-अपस् पर विशेष पवेलियन लगाया जायेगा। इसके अतिरिक्त, हर्बल और औषधीय पौधों को प्रोत्साहन देने के लिए जैविक खेती पर भी एक विशेष पवेलियन होगा।

‘ग्राम‘ में शामिल होने वाले हजारों किसानों को कृषि की नवीनतम एवं अभिनव तकनीकों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी प्रदान करने के लिए ‘जाजम चौपाल‘ आयोजित की जाएगी। प्रथम दिन होने वाली ‘जाजम चौपाल‘ में जैविक खेती, ऑनलाइन कमोडिटी एक्सचेंज, भेड़ एवं कुक्कुट के विकास, खजूर के पेड़, गुलाब की फसल में रोग एवं कीट प्रबंधन तथा लाभप्रद डेयरी फार्मिंग के लिए पशुपोषण जैसे विषयों पर जानकारी दी जाएगी। ये ‘चौपाल‘ इस प्रकार डिजाइन की जाएंगी कि किसान स्थानीय भाषा का उपयोग करते हुए अनौपचारिक माहौल में जानकारी प्राप्त कर सकें और विशेषज्ञों से अपने संदेह दूर कर सकें।

आगंतकों के लिए कृषि संबंधी प्रौद्योगिकियों की सबसे बेहतरीन तकनीकों को प्रदर्षित करने के लिए बनाया गया ‘स्मार्ट फार्म‘ भी ‘ग्राम‘ का एक अन्य प्रमुख आकर्षण होगा।

कल आयोजित होने वाली कॉन्फ्रेंस में ‘सस्टेनेबल एंड इनोवेटिव एग्रीकल्चर प्रेक्टिसेज फॉर डबलिंग फार्मर्स इनकम‘ के तहत ‘सस्टेनेबल एग्रीकल्चरः टूवर्ड्स एन एवरग्रीन रिवॉल्यूशन‘ (दोपहर 2.00 बजे से 3.50 बजे); ‘इनोवेटिव एग्रीकल्चरः लीवरेजिंग द टेक्नोलॉजी फ्रंटियर्स‘ (दोपहर 3.50 बजे 5.00 बजे) और ‘राजस्थान – इसराइल कॉलोब्रेशन फॉर एग्रीकल्चर डवलपमेंट – वे फॉरवर्ड‘ (दोपहर 4.00 बजे से 5.00 बजे) जैसे विषयों पर चर्चा की जाएगी।

कृषि के तीव्र एवं सतत विकास के माध्यम से किसानों का आर्थिक सशक्तिकरण सुनिश्चित करना ’ग्राम’ का मुख्य उद्देश्य है। किसानों के अतिरिक्त, इस वैश्विक आयोजन में दुनियाभर की बेहतरीन कार्यप्रणालियां एवं राजस्थान की कृषि जलवायु के अनुरूप सर्वोत्तम तकनीक प्रदर्षित की जाएंगी। यह निवेशकों, विनिर्माताओं, शिक्षाविदों एवं शोधकर्ताओं के लिए भी महत्वपूर्ण मंच साबित होगा।

‘ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट 2016‘ (ग्राम) के बारे मेंः

‘ग्राम‘ एक अंतरराष्ट्रीय इवेंट है जो जयपुर के सीतापुरा में स्थित जयपुर एग्जीबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर (जेईसीसी) में 9 से 11 नवम्बर तक आयोजित किया जाएगा। इसका आयोजन राजस्थान सरकार एवं फैडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। इस इवेंट में लगभग 50,000 किसानों के भाग लेने की संभावना है। ‘ग्राम‘ के आयोजन का मुख्य उद्देश्य कृषि क्षेत्र में त्वरित और सतत विकास के माध्यम से किसानों का आर्थिक सशक्तिकरण सुनिष्चित करना तथा वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करना है। इसके अतिरिक्त इस वैश्विक आयोजन में राजस्थान के कृषि जलवायु के अनुरूप विश्व भर की सर्वोत्तम कार्यप्रणालियां और प्रौद्योगिकी का प्रदर्शन किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here