ग्लोबल एग्रीटेक मीट का दूसरा दिन निवेश और निवेशकों के नाम रहा। इस किसान समारोह में करीब 4 हजार 400 सौ 89 करोड़ रुपए के 38 एमओयू कृषि क्षेत्र में किए गये। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वैकया नायडु और कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी के मौजूदगी में इन अहम एमओयूज पर साइन हुए। इन एमओयूज से करीब 45 हजार प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लोगों को रोजगार मिलने का दावा किया गया है।

क्या क्या हुए एमओयू

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा किए गये 4400.89 करोड़ के एमओयूज से प्रदेश के किसानों की दशा और दिशा सुधारने की कोशिश की जाएगी। ग्राम के दूसरे दिन 38 एमओयू हुए जिनने मॉर्डन भंडार गृह खोलने के लिए 257.5 करोड, कोल्ड चेन विकास के लिए 331 करोड़, एग्रो प्रोसेसिंग यूनिट्स लगाने के लिए 1694 करोड़ रुपए के एमओयू हुए।

इसके अलावा प्रोसेसिंग यूनिट और हार्टीकल्चर सेक्टर में भी करोड़ो रुपए के एमओयू हुए। सीएम राजे ने कहा कि इंडस्ट्री और किसानों को एक प्लेटफॉर्म पर लाना होगा क्योंकि राजस्थान को आगे ले जाने का जिम्मा किसानों के कंधों पर है। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि सरकार किसानों की हरसंभव मदद करने के लिए तैयार है।

ग्राम-2016 से सभी प्रदेशों का ध्यान किया आकृषित  

इस दौरान ग्राम में शिरकत करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने कहा कि किसानों का इस महाकुंभ में जुटे किसानों को कृषि सें संबंधित नई तकनीकों की जानकारी मिलेगी। देश के उत्थान की भागीदारी में राजस्थान जैसा भौगोलिक प्रदेश अपनी खासी अहमियत रखता है। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश के किसानों के इस इस अंतर्राष्ट्रीय मीट का आयोजन कर किसानों और कृषि व्यवसायियों को एक मंच प्रदान किया हैं। केंर्द सरकार कई मौको पर राजस्थान सरकार की तारी कर चुकी है और इस बार भी राजस्थान सरकार ने किसानों के लिए इतने बड़े किसान समारोह का आयोजन कर सभी राज्यों का ध्यान भी अपनी और आकृषित किया हैं। केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने इस मौके पर प्रगतिशील किसानों का भी सम्मान किया।

किसान का बेटा किसान नही बनेगा- नायडू

नायडू ने कहा कि वर्षो तक देशभर में शहरी क्षेत्र में प्रोत्साहन पर जोर दिया गया, लेकिन गावों का विकास किया जाना जरूरी है, उन्होनें किसान की चिंता करते हुए कहा किसान का बेटा किसान नहीं बनना चाहता, क्योकि इसमें रोजगार नहीं मिलता है,ऐसे में अब किसान को आगे बढ़ाने की जरूरत है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किया ग्राम का दौरा, सेलिब्रिटी पशुओं से मिलकर हुई उत्साहित

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट में लगी स्टॉल्स और प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री राजे ने किसानों से मुलाकत की और स्टॉल्स संचालकों से उनके कृषि संबंधित प्रोडक्ट्स की जानकरी ली। राजे ने युवराज भैंसे, कड़कनाथ मुर्गे, मालानी घोड़े और हंसराज ऊंट को भी निहारा और पशुपालकों से इनकी ब्रीड़ की जानकारी ली।

क्या है ग्राम-2016

राजस्थान सरकार राज्य में कृषि आय में वृद्धि करने के लिए कृषि एवं संबंधित परितंत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य में ग्लोबल राजस्थान एग्रिटेक मीट 2016 (ग्राम 2016) की अवधारणा तैयार की, जो वैश्वीकृत, बाजार-चालित एवं लाभकारी उपक्रमों को आकार प्रदान करते हुए कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों की धारणीयता एवं आर्थिक व्यवहार्यता को सुधारने की प्रक्रिया को बदलने और उत्प्रेरित करने के लिए प्लेटफॉर्म के रूप में एक कृषि-तकनीकी एवं व्यापार समारोह है। यह समारोह सभी भागीदारों – किसानों, शिक्षाविदों, तकनीकीविदों, कृषिव्यापार कंपनियों एवं नीति निर्माताओं को एकसाथ खड़ा करेगा ताकि नई विधियों एवं बेहतरीन कार्य-व्यवहारों के जरिए धारणीय कृषि एवं संबंधित गतिविधियों के विकास को तेज किया जा सके।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here