माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में 75% या उससे अधिक अंक लाने वाली छात्राओं की संख्या दो साल में दोगुनी हो गई। सत्र 2014-15 में 10वीं 12वीं की 47,946 छात्राओं ने इतने अंक प्राप्त किए, जबकि इस बार यह आंकड़ा 91,523 पर पहुंच गया है। वहीं  राजस्थान में बच्चों में भाषा पढ़ने साधारण गणिक करने और अंग्रेजी भाषा पढ़ने के तीनों प्रमुख शिक्षा मानकों में सुधार आया हैं। स्वयंसेवी संस्था प्रथम के सहयोग से शिक्षा के स्तरक को लेकर किये जाने वाले वार्षिक सर्वेक्षण स्टेट्स ऑफ एजूकेशन रिपोर्ट में यह तथ्य सामने आया हैं । पढ़ने में पांचवी तर के बच्चों में उल्लेखनीय सूधार आया हैं।

सरकारी स्कूलों में कक्षा 5 के बच्चों में 8.1 फीसदी बढ़ोत्तरी

2014 की तुलना में 2016 में कक्षा पांच के बच्चों ने कक्षा 2 के स्तर का पाठ पढ़ने में 7.4 फीसदी की बढ़ोत्तरी हगुई हैं। सरकारी स्कूलों में कक्षा 5 के ऐसे बच्चों में 8.1 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी आई हैं जो कक्षा 2 का पाठ पढ़ सकते हैं।

मुख्यमंत्री राजे ने कहा, सरकारी स्कूलों में बढ़ा लर्निंग लेवल

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बुधवार को जारी असर रिपोर्ट-2016 का हवाला देते हुए वुमन समिट राजस्थान 2017 में कहा कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों के बच्चों का लर्निंग लेवल बढ़ा हैं। छात्राओं के स्कूल छोड़ने के प्रतिशत में भी कमी आई हैं। देश में प्रदेश उन चार राज्यों में शामिल हो गया हैं जहां 80 प्रतिशत से ज्यादा स्कूलों में कार्यशील शौचालय हैं।

स्कूलों में बढ़ा 4 फीसदी नामांकन

सरकारी स्कूलों में नामांकन में 4 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई हैं। राजस्थआन में ज्यादा बच्चे निजी विद्यालयों में नामांकित हैं। 6 से 14 वर्ष आयु वर्ग के 95.7 प्रतिशत बच्चे इस सल ग्रामीण क्षेत्र में नामांकित हैं। राजस्थआन में कुल नामांकन 2014 से 1.1 प्रतिशत बढ़ा हैं।

75 फीसदी अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं की संख्या हुई दोगुनी

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में 75% या उससे अधिक अंक लाने वाली छात्राओं की संख्या दो साल में दोगुनी हो गई। सत्र 2014-15 में 10वीं 12वीं की 47,946 छात्राओं ने इतने अंक प्राप्त किए, जबकि इस बार यह आंकड़ा 91,523 पर पहुंच गया है।

वसंत पंचमी पर होगी बालिकाएं सम्मानित

10वीं में 75% या अधिक अंक वाली छात्राओं को गार्गी पुरस्कार के तहत 3 हजार 12वीं की छात्राओं को बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के रूप में 5 हजार रु. दिए जाते हैं। बालिका शिक्षा फाउंडेशन इन्हें वसंत पंचमी पर सम्मानित करेगा। जयपुर में 9136 को गार्गी और 5537 छात्राओं को बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार मिलेगा।

वर्ष                     गार्गी पुरस्कार              बालिका प्रोत्साहन          कुल छात्राएं
2014-                   1529028                   18918                           47946
2015-                   1639363                   29335                           68698
2016-                   1757275                   34248                           91523

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here