vidhan-sabha

उत्तर प्रदेश सदन की विधानसभा में गत दिनों हुई एक भारी चूक का मामला सामने आया है। अभी दो दिन पहले 12 जुलाई को विधानसभा में चल रहे बजट सत्र के दौरान विधानसभा भवन के अंदर पेंटाएरीथ्रीटोल टेट्रा नाइट्रेट (PETN) नाम का विस्फोटक मिला। यह विस्फोटक समाजवादी पार्टी के विधायक मनोज पाण्डेय की टेबल के नीचे मिला था। विस्फोटक की फोरेंसिक जांच की गई। जिसमें यह साबित हो गया कि यह विस्फोटक PETN ही है। हलांकि इस विस्फोटक के साथ डेटोनेटर नहीं पाया गया। बिना डेटोनेटर के विस्फोटक विस्फोट नहीं कर पाता। अगर इस विस्फोटक पाउडर के साथ डेटोनेटर होता तो यह एक बड़े विध्वंस का रूप ले सकता था। विधानसभा में सीसीटीवी सहित उच्च स्तर की सुरक्षा होने के बावजूद इस विस्फोटक का मिलना उत्तर प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था पर प्रश्न खड़ा करता है।

विध्वंसकारी होता है PETN :

पेंटाएरीथ्रीटोल टेट्रा नाइट्रेट (PETN) एक खतरनाक रासायनिक पाउडर होता है। आतंकी गतिविधिओं में अक्सर धमाके करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। यह गंधहीन सफेद रंग का पाउडर होता है। इसकी पहचान कर पाना बिलकुल आसान नहीं होता है। इसी कारण विधानसभा का डॉग स्क्वॉयड भी इसकी पहचान नहीं कर सका था। इस विस्फोटक की थोड़ी मात्रा भी बेहद विध्वंसकारी होती है। महज़ 500 ग्राम PETN पूरी विधानसभा या बड़े भवन में तबाही मचाने के लिए काफी होता है। साल 2011 में दिल्ली हाईकोर्ट में हुए धमाके में भी इसका उपयोग किया गया था। वर्ष 2009 में नॉर्थवेस्ट एयरलाइंस के अंदर इसकी मदद से धमाका करने की कोशिश हुई थी। इस विनाशकारी रसायन का प्रयोग आतंकवादी ट्रेन धमाकों में करते हैं।

सीएम योगी ने बुलाई गृह विभाग और पुलिस महकमें की बैठक:

राज्य की विधानसभा की सुरक्षा में हुई इतनी बड़ी सुरक्षा चूक को ध्यान में रखकर राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के गृह विभाग और पुलिस विभाग के अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई है। अभी तक जो जानकारी सामने आई उसके अनुसार, मुख्यमंत्री योगी की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों को विधानसभा हॉल में इस पाउडर की मौजूदगी का पता चला था। उन्होंने सीएम योगी को इसकी जानकारी दी। इसके बाद सीएम योगी ने तुरंत हरकत में आकर राज्य के डीजीपी, प्रुमख सचिव, विधानसभा सचिव, प्रमुख सचिव गृह, प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन, एडीजी लॉ ऐंड ऑर्डर, एडीजी सिक्यॉरिटी, एएसपी विधान सभा समेत तमाम वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाया और सुरक्षा में की गई इस लापरवाही के लिए कड़ी फटकार लगाई।

मानसून सत्र के दौरान नज़र में आया विस्फोटक PETN:

बताया जा रहा है कि उत्तरप्रदेश विधानसभा में PETN विस्फोटक के मिलने की जानकारी, विस्फोटक के मिलने के दिन ही12 जुलाई को ही हो गई थी। उस दौरान सदन में बजट को लेकर चर्चा चल रही थी। सुरक्षा महकमें ने इसे हटाने के लिए सचिवालय और विधानसभा भवन के खाली होने तक का इंतजार किया। बैठक ख़त्म होने के बाद सावधानीपूर्वक इसे हटाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here