Jhalarapatna assembly

राजस्थान विधानसभा चुनाव में अब करीब एक माह और एक सप्ताह का समय बाकी रह गया है। अभी तक दोनों ही प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है। लेकिन यह माना जा रहा है कि दिवाली से पहले दोनों ही पार्टियां अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर देंगी। राजधानी जयपुर में भाजपा सोमवार से दो दिन का अंतिम मंथन कर रही है। इसके बाद लगभग सभी 200 विधानसभा सीटों पर पार्टी की ओर से प्रत्याशियों के नाम फाइनल हो जाएंगे। Jhalarapatna assembly

पार्टी इस बात का विशेष ध्यान रख रही है कि ​जिताऊ उम्मीदवार को ही टिकट दिए जाए। संगठन सर्वे के आधार पर टिकट वितरण करेगा। भाजपा टिकट वितरण से पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने अपने आगामी विधानसभा क्षेत्र की घोषणा कर दी है।

मुख्यमंत्री राजे अपने गृह विधानसभा क्षेत्र झालरापाटन से ही आगामी विधानसभा चुनाव लड़ेगी।उन्होंने रविवार को झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र के भाजपा बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन में इसकी घोषणा की। मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि झालावाड़ से मेरा 30 साल पुराना अटूट रिश्ता है, जो जब तक सांस है तब तक रहेगा। यह रिश्ता मुख्यमंत्री और कार्यकर्ताओं के बीच का नहीं, ये रिश्ता माँ-बेटे, मां-बेटी, बहन-भाई के बीच का है। उन्होंने कहा कि यहां के लोगों ने उन्हें बहुत प्यार दिया। मैंने भी पूरे मन से झालावाड़-बारां के लिए जो भी मुझ से बन पड़ा, किया है। इसीलिए 30 साल पहले के झालावाड़-बारां और आज के झालावाड़-बारां में विकास का बहुत बड़ा अंतर साफ दिखाई देता है। Jhalarapatna assembly

झालावाड़ से मेरा 30 साल पुराना अटूट रिश्ता, जब तक सांस है तब तक रहेगा Jhalarapatna assembly

मुख्यमंत्री राजे ने सम्मेलन में कहा कि ये चुनाव मैं नहीं, झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र का हर व्यक्ति लड़ेगा। यहां उम्मीदवार मैं नहीं, सब कार्यकर्ता है। उन्होंने कहा कि झालावाड़ से मेरा 30 साल पुराना अटूट रिश्ता है, जो जब तक सांस है तब तक रहेगा। उन्होंने कहा कि यहां के लोगों ने उन्हें बहुत प्यार दिया है। बता दें, राजे इस विधानसभा सीट पर 2003 से 2013 तक तीनों विधानसभा चुनाव जीत चुकी हैं। Jhalarapatna assembly

इसके अलावा 1989 से 1999 तक पांच लोकसभा चुनाव झालावाड़-बारां सीट से जीत चुकी हैं। भाजपा के टिकट वितरण से पहले उनकी यह घोषणा इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि इस बार कयास लगाए जा रहे थे कि राजे इन चुनावों में धौलपुर, राजाखेड़ा या किसी अन्य सीट से चुनाव लड़ सकती हैं। ऐसे में पार्टी और कार्यकर्ताओं में कोई गलत मैसेज नहीं जाए इसलिए मुख्यमंत्री राजे ने टिकट बंटवारे से पहले ही झालरापाटन से चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। भाजपा राजस्थान में उन्हीं के चेहरे पर विधानसभा चुनाव लड़ रही हैं। Jhalarapatna assembly

200 विधानसभा सीटों पर फोकस, 100 पर रहेगा विशेष जोर

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि चुनाव के दौरान मेरा फ़ोकस 200 विधान सभा सीटों पर ही रहेगा। इनमे से 100 सीटों पर विशेष ध्यान देना है है। राजे ने कहा कि हम पूर्ण बहुमत के साथ राजस्थान में एक बार फिर से ऐतिहासिक जीत दर्ज कराएंगे। उन्होंने कहा कि आज भाजपा कार्यकता ने ये स्थिति पैदा कर दी है कि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार राहुल गांधी को विधानसभा वार सभाएं करनी पड़ रही है। Jhalarapatna assembly

उन्हें पता नहीं कि झालावाड़-बारां से मेरा अटूट बंधन है। मुख्यमंत्री ने बूथ सम्मेलन में कार्यक्रम की शुरूआत से पहले राजस्थान के पूर्व राज्यपाल मदन लाल खुराना को श्रद्धांजलि दी और दो मिनट का मौन रखा। Jhalarapatna assembly

पिछली बार सिर्फ 8 सीटों की कमी से सरकार नहीं बन पाई

मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि पिछली बार विधानसभा चुनाव 2008 में विषम परिस्थितियों के बावजूद हम 78 सीटें जीते थे, 4 सीटे जनता दल (यू) और भाजपा के बागियों ने जीती थी। अगर 8 सीटें और जीत लेते, तो 2008 में भी हमारी सरकार बन जाती, क्योंकि उस वक़्त कांग्रेस भी 96 सीटें ही ला पाई थी, जो बहुमत के लिए काफ़ी नहीं थी। Jhalarapatna assembly

यदि उस वक़्त हम 8 सीटें और जीत लेते, तो कांग्रेस के पास 88 सीटें ही रह जाती। उन्होंने कहा कि इन आठ सीटों में 6 तो झालावाड़-बारां की ही रह गई, लेकिन अब की बार ऐसी ग़लती नहीं होगी। राजे ने कहा कि इस बार हम सरकार बनाएंगे और प्रदेश की राजनीति में एक नया इतिहास रचेंगे। इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को अभी से पूरी जी-जान लगानी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here