भारतीय जनता पार्टी भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की बारां सभा को फ्लॉप बताते हुए कहा है कि उनके बयानों को जनता गंभीरता से नहीं लेती है। परनामी ने एक बयान जारी कर कहा कि गांधी बाबा ऐसे बयान देते हैं जिनका कोई आधार नहीं होता,  इसलिए जनता अब उन्हें गम्भीरता से नहीं लेती।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा कि कांग्रेसी उनकी सभा में डेढ़ लाख लोगों के आने का दावा कर रहे थे, लेकिन 30 हजार लोग भी नहीं आए। इससे साफ है कि लोगों का अब कांग्रेस में विश्वास नहीं रहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में बिखराव हो चुका है।

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष अशोक परनामी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार किया करते हुए  कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने जितने भी बयान दिए है, वो तथ्यहीन है। उन्होंने कहा कि देश की जनता राहुल गांधी के बयानों को गंभीरता से नहीं लेती है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने किसानों के लिए कर्ज माफी, बिजली का मुद्दा उठाते हुए प्रदेश सरकार पर निशाना साधा है।

लेकिन क्या पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने किसानों का कर्जा या बिजली का बिल माफ किया था, इसका तथ्यात्मक जवाब राहुल गांधी के पास नहीं है। उन्होंने कहा कि राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी बिखराव की स्थिति में है। इसलिए राहुल गांधी को बारां में आना पड़ा है। परनामी ने कहा कि अगर राजस्थान कांग्रेस एकजुट होती तो, कांग्रेस विधायक रमेश मीणा को अलग से जनसभा या रैली करने की जरूरत नहीं पड़ती।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा कि राहुल गांधी ने कानून-व्यवस्था और बलात्कार के मामलों को लेकर भी वसुंधरा सरकार पर आरोप लगाए है। लेकिन खुद उनके तीन कांग्रेस के नेता बलात्कार के आरोप में जेल में बंद है।

प्रदेश कांग्रेस जी-जान से जुटी
राहुल की रैली से पहले ही प्रदेश कांग्रेस राजे सरकार के खिलाफ प्रदेश में माहौल बनाने का काम कर रही है। राजे सरकार के तीन साल के कार्यकाल के पूरा होने के मौके पर जहां भाजपा सरकार अपनी उपलब्धियों का जश्न मना रही थी तो वहीं सचिन पायलट के नेतृत्व में कांग्रेस भ्रष्टाचार सरकार के तमगे के साथ राजे सरकार की तीन साल की नाकामियों की लिस्ट लेकर जनता के बीच घूम रहे हैं।

सभा में ज्यादा भीड़ जुटाने की कोशिशों में लगे कांग्रेसी
बता दें कि नोटबंदी को लेकर पिछले दिनों में राहुल ने गुजरात के मेहसाणा, यूपी के जौनपुर, उत्तराखंड के अल्मोड़ा और हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में सभाएं की हैं। अब कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट इसी कोशिश में लगे हैं कि अन्य सभाओं से ज्यादा भीड़ जुटाएं। ताकि राजस्थान कांग्रेस को फिर से जोश मिल सके। लेकिन सभी के पसीने आगये।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here