eid

उत्सव और त्योहारों का देश कहे जाने वाले भारत में विभिन्न जाति और धर्म एक साथ निवास करते है। क्षेत्रीय के साथ-साथ भारत में सामाजिक और सांस्कृतिक विविधता भी पायी जाती है। दुनियाभर के सभी धर्मानुयायी यहाँ बसते है। हर जाति-धर्म की अपनी-अपनी परम्पराएं होती है। खुशियां मनाने के लिए अपना-अपना त्यौहार होता है। यहाँ हिन्दुओं की होली-दीपावली भी बनती है, सिखों की वैसाखी भी और मुस्लिमों की ईद भी यहाँ मनाई जाती है। बात अगर मुस्लिम त्योहारों की करें, तो ईद के बिना उनका वज़ूद नहीं है। दुनियाभर के मुसलमानों के दो सर्वप्रसिद्ध त्योहार होते है। इनमें से एक को ईद अथवा ईद-उल-फितर कहा जाता है तथा दूसरा ईद-उल जुहा अथवा बकरईद कहलाता है। ईद -उल-फितर को मीठी ईद भी कहते है। अभी रमजान का पवित्र महीना चल रहा है और इसके आख़िर में ईद मनाई जाने वाली है।

राजस्थान में बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाता है यह पर्व:

वैसे तो पूरे भारतवर्ष में इस त्यौहार पर रौनक छा जाती है। लेकिन राजस्थान में इसका महत्व ख़ास ही है। राजस्थान की राजधानी जयपुर के साथ ही अलवर, भरतपुर, टोंक, कोटा, अजमेर और सभी अन्य ज़िलों में ईद बड़े हर्ष और उल्लास के साथ मनाई जाती है। ईद के महीने भर पहले से ही रमज़ान में दुकाने सजने लगती है। राजधानी जयपुर के हर बाज़ार और दुकान में रौनक छा जाती है। पूरे महीने खरीददारी चलती रहती है। मुसलमान अत्यन्त उत्साहित होकर रोजे रखते हैं तथा पाँच समय की नमाज के साथ ही ‘तरावीह’ भी पढ़ा करते हैं। ईद वाले दिन सामूहिक इबादत की जाती है। इस दिन लोग सुबह को फजिर की सामूहिक नमाज अदा करके इत्र लगे हुए नये कपड़े पहनते हैं। जयपुर में मुसलमान भाई अपने-अपने घरों से नमाजे पढ़ने के लिए ईदगाह अथवा जौहरी बाज़ार स्थित जामा मस्जिद जाते हैं। ईद-उल-फितर या मीठी ईद के दिन जयपुर में मुस्लिम समुदाय मीठी सिवैया और शीर बनाते हैं।

इसलिए मनाई जाती है:

इस्लाम धर्म की धार्मिक पुस्तक हदीस के अनुसार ईद-उल-फितर अल्लाह की दी हुई पेशकश या भेंट मानी जाती हैं। रमज़ान के पूरे महीने रोज़े रखकर मुस्लिम मन और तन से पाक हो जाते हैं। इन दिनों अपने मालिक या अल्लाह की इबादत कर एक आध्यात्मिक संबंध का अनुभव करते हैं। ईद-उल-फितर अल्लाह से इसके बन्दों को जोड़ने का काम करता है। हदीस के अनुसार ईद मुसलमानों के लिए बेहद ख़ुशी का दिन होता है। ईद के दिन अल्लाह अपने बन्दों को नेमत बख्श्तें है।

मुख्यमंत्री राजे ने दी बधाई:

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने प्रदेश के सभी लोगों को ईद की तहेदिल से मुबारकबाद दी है। रमज़ान के पाक महीने में मुस्लिम समुदाय की सुविधा के लिए समुचित प्रबंध करने वाली राजस्थान सरकार ने राज्य के हर वर्ग और धर्म को समान मानकर राज्य का विकास किया है। सरकार ने राज्य के सभी धर्मवर्गों को आपसी त्योहारों पर भाईचारा दर्शाने और इन त्योहारों को मिल-झुल कर मनाने का आह्वान किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here