education-festival

राजस्थान सरकार ने प्रदेश को शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल बनाया हैं। आज राजस्थान देश विदेश के शिक्षा जगत में अपनी अलग पहचान रखता हैं। राजस्थान को एजुकेशन हब कहा जाता हैं। प्रदेश के कई क्षेत्रों को शिक्षा जगत में विशिष्ट कार्य करने पर विशेष पहचान मिली हैं। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रिसर्जेंट राजस्थान व ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट (ग्राम) की तर्ज पर ही जयपुर फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन का आयोजन करने जा रही हैं। इस आयोजन से राजस्थान के शिक्षक वर्ग, छात्र वर्ग व शिक्षा जगत में राजस्थान को विश्वस्तर पर नई पहचान मिलेगी।

विभिन्न विषयों पर आयोजित होंगे वक्ताओं के सत्र

राजधानी जयपुर में आगामी 5 और 6 अगस्त को देश का पहला फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन आयोजित किया जा रहा है। साहित्य क्षेत्र में होने वाले जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के बाद यह ऐसे आयोजन है जो पूरी तरह से किसी खास विषय यानी शिक्षा पर केंद्रित होगा। इस महायोजन में कई विषयों पर सत्रों का आयोजन किया जाएगा जिनमें देश और विदेश के शिक्षाविद् हिस्सा लेंगे साथ ही वक्ताओं के लिए अगल से व्यवस्था की जा रही है जैसे कि लिटरेचर फेस्टिवल में वक्ताओं के संवाद के लिए व्यवस्थाएं की जाती है। इस आयोजन को लेकर आप अपने ब्लॉग, नृत्य, ट्विट संवाद और बैंड से संबंधित कार्यक्रमों में हिस्सा ले सकते है।

कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले वक्ता

Pooja Makhija Celebrity Nutritionist
Shabana Azmi Actress
Lina Ashar Chairperson, Kangaroo Kids Education Limited
Divya Dutt Theatre and Film Actor
Hemant Oberoi Former Grand Executive Chef, Taj Mahal Group of Hotels
Karishma Sakhrani Development Chef. Food Stylist .Brand Partnerships
Sushmita Sen Actress & Model
Tony Little Chief Academic Officer, GEMS Education
Vasudev Devnani Hon’ble Minister of Education, Govt. of Rajasthan
Yasmin Karachiwala Celebrity Master Trainer
Anil Swarup Secretary, School Education and Literacy, MHRD

‘वन यंग राजस्थान’ के लिए विश्व पटल पर संभानाएं तलाश करेगा राजस्थान

जेम्स एजुकेशन के सहयोग से जयपुर एक्जीबिशन एवं कन्वोकेशन सेंटर सीतापुरा में आयोजित होने वाला यह एजूकेशन फेस्टिवल राजस्थान को देश की शैक्षणिक राजधानी के रूप में एक मंच प्रदान करेगा। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि इस कार्यक्रम से हमारी नई युवा पीढी को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की शिक्षा एवं नई तकनीकों को सीखने का मौका मिलेगा। यह राजस्थान को एक ऐसा मंच प्रदान करेगा जिसमें विश्व के श्रेष्ठतम शिक्षाविदों और विशेषज्ञ भाग लेकर शिक्षा के भविष्य, नवाचारों और ज्ञान के आदान-प्रदान से राष्ट्र का नवनिर्माण पर एक मंच के नीचे संवाद कर सकेगें। मुख्यमंत्री राजे का कहना है कि यह कार्यक्रम ‘वन यंग राजस्थान’ के लिए विश्व में सम्भावनाओं की तलाश करेगा। आपको बतादें कि पिछले साल 19 दिसम्बर 2016 को मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे द्वारा दिल्ली में इस कार्यक्रम में एजुकेशन फेस्टिवल ऑफ राजस्थान घोषणा की गई थी।

विश्व शांति में शिक्षा का महत्व और सकारात्मक शिक्षा पर होगी चर्चा

अमरीश ए चन्द्रा, ग्रुप प्रेसीडेन्ट, जेम्स एजुकेशन इण्डिया ने कहा ‘यह आयोजन वैश्विक स्तर के शिक्षाविदों को शिक्षा के स्तर को राज्य में उन्नत करने के लिए संकल्पबद्ध करेगा। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के क्षेत्रा में भविष्य की सम्भावनाओं को प्रदर्शित करना है। यह जेम्स एजुकेशन द्वारा सीएसआर पहल है। इस कार्यक्रम में विश्वस्कूल के कुलपति, प्रवर्तक, प्रधानाध्यापक, शिक्षक, समाजसेवी, नीति निर्धारक, अभिभावक विद्यार्थी भाग लेंगे तथा परस्पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगें। इस कार्यक्रम में बालिका शिक्षा, विश्व शान्ति में शिक्षा का महत्व, सकारात्मक शिक्षा तथा अन्य बिन्दुओं पर चर्चा की जायेगी।

भारत की बौद्धिक राजधानी बनकर उभरेगा राज्य

आने वाले समय में प्रदेश शिक्षा के क्षेत्र में भारत की बौद्धिक राजधानी बनकर उभरेगा। राज्य में शिक्षा के अवसरों एवं संभावनाओं को तलाश कर देश-दुनिया से रू-ब-रू करवाने के लिए अगस्त 2017 में दो दिवसीय जयपुर फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन का आयोजन किया जा रहा है, जो देश में अपने ढंग का पहला प्रयास होगा। यह ग्लोबल आयोजन प्रतिष्ठित जेम्स एजुकेशन फाउंडेशन के साथ मिलकर किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here