जेडीए द्वारा बनाए गशहर के महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स के लिए एनसीआर बोर्ड ने पहली बार अपनी बोर्ड बैठक में शुक्रवार को एक साथ 1664 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई। इनमें से द्रव्यवती नदी के सौंदर्यकरण और विकास के लिए 1098 करोड़ रुपए मंजूर किए। इसके अलावा अंबेडकर सर्किल से सोडाला तिराहे तक तीन किलोमीटर लंबे एलीवेटेड रोड के लिए 187 करोड़ रुपए मंजूर किए। छह रेलवे ओवर ब्रिज के लिए 379 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई। इन आठ प्रोजेक्ट्स के लिए एक साथ इतनी बड़ी राशि मिलने से ठप पड़ रहे जेडीए के कार्यों को गति मिलेगी और अधूरे प्रोजेक्ट्स इसी सरकार के कार्यकाल में पूरे होने की संभावनाएं बढ़ गई है। एनसीआर बोर्ड की दिल्ली में आयोजित बैठक में जयपुर शहर को खास तवज्जों दी गई।

1663 करोड़ में होंगे ये विकास कार्य

प्रोजेक्ट लागत स्थिति
द्रव्यवती नदी सौंदर्यकरण 1098 करोड़ कार्य शुरू
हवासडक एलीवेटेड रोड़ 250 करोड़ निर्माण शुरू
सीतापुरा आरओबी 116 करोड़ निर्माण शुरू
दांतली आरओबी 100 करोड़ निर्माण शुरू
जाहोता आरओबी 76 करोड़ निर्माण शुरू
आनंदलोक अंडरपास 29 करोड़ निर्माण प्रक्रियाधीन
बस्सी आरओबी 57.50 करोड़ निविदा प्रक्रियाधीन
झोटवाड़ा आरओबी 166 वित्तिय स्वीकृति

द्रव्यवती नदी अब 21 माह के भीतर चमक उठेगी। इसके 47 किलोमीटर के क्षेत्रव में एनिकट की तर्ज पर 85 चेक जेम बनाए जाएंगे। मिट्टी का कटाव रोकने के लिए 122 जगह पर फॉल स्ट्रकचर का काम भी जल्दी ही शुरू हो जाएगा। राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड से लोग स्वीकृति के बाद यह स्थिति बनी हैं। अभी तक अनुबंधित कंपनी ने करीब 110 करोड़ रुपए के काम किए हैं। अभी ज्यादातर हिस्से में समतलीकरण का काम चल रहा हैं। रामचंद्रपुरा बांध से गोनेर तक करीब 10 किमी लंबाई में तेजी से काम किया जा रहा हैं। गौरतलब हैं कि अप्रेल 2016 में काम शुरू हुआ , अक्टूबर 2018 तक काम पूरा करना हैं। नौ माह में 110 करोड़ का काम हुआ हैं। बाकि 21 माह में 1364 करोड़ का काम करना होगा।

यह होगा स्ट्रक्चर

चेक डेम की चौड़ाई 12 से 102 मीटर तक होगी। 102 मीटर की चौड़ाई वहीं ली गाएगी, जहां नदी की 210 फीट चौड़ाई के अलावा सरकारी जमीन हैं और पानी का बहाव हो रहा हैं। इन चेक डेम की गहराई 1 मीटर रहेगी, जिसके लिए दोनो तरफ कॉंक्रीट की दीवार होगी लेकिन निचला जमीन में जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here