सरकार ने कंज्यूमर्स और मर्चेंट्स के बीच डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए गुरुवार को दो स्कीमों का ऐलान किया। इनके तहत डिजिटल पेमेंट के साधनों का इस्तेमाल करने पर 50 लाख से 1 करोड़ रुपये तक इनाम मिलेगा। नीति आयोग ने गुरुवार को दो स्कीम- लकी ग्राहक योजना और डिजी-धन व्यापारी योजना पेश की, जिन्हें 25 दिसंबर को लॉन्च किया जाएगा। इन स्कीमों को नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) 100 दिनों तक चलाएगी।

फिलहाल, देश में पर्सनल कंजम्पशन खर्च से जुड़ा 95 फीसदी ट्रांजैक्शन कैश में होता है। इससे असंगठित इकनॉमी को बढ़ावा मिलता है, जिससे टैक्स वसूलने की सरकार की क्षमता सीमित हो जाती है।

स्कीमों का मकसद डिजिटल ट्रांजैक्शंस को बढ़ावा देना

नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कान्त ने इन स्कीमों का ऐलान करते हुए कहा कि इस पर सरकार की लागत 340 करोड़ रुपये आएगी। कान्त ने कहा, ‘इन स्कीमों का मकसद डिजिटल ट्रांजैक्शंस को बढ़ावा देना है, ताकि समाज के सभी तबकों खास तौर पर गरीब और मिडल क्लास इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट के सिस्टम को अपना सके।’

हर रोज 15 हजार विजेताओं को मिलेगा 1000 रु. का इनाम

लकी ग्राहक योजना स्कीम के तहत 25 दिसंबर से रोजाना 15,000 विजेताओं को 100 दिनों तक 1,000-1,000 रुपये का इनाम दिया जाएगा। स्कीम में 7 विजेताओं को साप्ताहिक ड्रॉ के जरिये अधिकतम 1,00,000 रुपये का भी पुरस्कार दिया जाएगा। इसके अलावा, 14 अप्रैल 2017 को मेगा अवॉर्ड भी होगा, जिसमें 8 नवंबर से 13 अप्रैल के दौरान हुए ट्रांजैक्शंस पर 1 करोड़, 50 लाख और 25 लाख का कैश इनाम दिया जाएगा। मेगा ड्रॉ के तहत मर्चेंट्स के लिए इनाम 50 लाख, 25 लाख और 5 लाख रुपये होंगे। 50 रुपये से 3,000 रुपये तक के डिजिटल ट्रांजैक्शंस इस इनाम के दायरे में आएंगे और इसमें सभी कंज्यूमर्स से लेकर कंज्यूमर्स से मर्चेंट, सरकार से मर्चेंट और आधार से जुड़े ट्रांजैक्शंस को शामिल किया जाएगा।

नोटबंदी के बाद डिजिटर पेमेंट में हुई बढ़ोत्तरी

सरकार का दावा है कि नोटबंदी के बाद देशभर में डिजिटल पेमेंट में बढ़ोतरी हुई है और 9 नवंबर के बाद से डिजिटल साधनों के जरिये ट्रांजैक्शंस की वैल्यू और वॉल्यूम दोनों में कई गुना की बढ़ोतरी हुई है।

9 नवंबर के बाद से रुपे के इस्तेमाल वाले डिजिटल ट्रांजैक्शंस में 316 फीसदी का उछाल हुआ है, जबकि ई-वॉलेट के जरिये ट्रांजैक्शंस में 271 फीसदी, यूपीए से ट्रांजैक्शंस में 119 फीसदी और पीओए मशीन से ट्रांजैक्शंस में 95 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here