vasundhara-raje

राजस्थान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अब धीरे-धीरे राजस्थान सरकार के कार्यों और योजनाओं से प्रभावित होने लगे है। पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत सहित कांग्रेसी अब राजस्थान सरकार की योजनाओं की सराहना करने लगे है। विपक्ष की भूमिका में रहते हुए यह कम ही देखा जाता है कि एआईसीसी महासचिव अशोक गहलोत मुख्यमंत्री राजे के कार्यक्रमों और योजनाएं की तारीफ करें या उन्हे पसंद करें। अशोक गहलोत ने हमेशा ही राज्य सरकार पर कटाक्ष ही किया है साथ ही राजे सरकार पर अनेकानेक आरोप भी लगाएं है। पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को भी राज्य सरकार की योजनाओं और अभियानों की सफलता दिखाई दी थी जब वे एक सरकारी स्कूल के मुस्कुराते हुए बच्चों से मिले थे। इस इसका मतलब यहीं लगाया जा सकता है कि देश और प्रदेश के लोग ही नही अब विपक्ष भी वसुंधरा सरकार के कामकाज को पसंद कर रहा है और इसकी तारीफ ना करने से खुद को रोक नही पा रहे है।

ashok-gehlot

अशोक गहलोत ने ट्वीटर पर किया लाइक

हाल ही में सोशल मीडिया साइट ट्वीटर पर पूर्व मुख्यमंत्री गहलोत ने राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे कार्य को लाइक कर सरकार के विकास कार्यों पर मुहर लगा दी। दरअसल, ट्वीटर पर गहलोत को टैग कर चंद्रशेखर गौर नामक व्यक्ति ने राज्य सरकार की संपर्क पोर्टल योजना द्वारा लोगों के सीधे काम होने की बात कही तो गहलोत इसे लाईक करने से रोक नही पाएं। इस व्यक्ति ने लिखा कि ” जनता के काम सरकार संपर्क पोर्टल के माध्यम से सीधे कर रही है” इस पोस्ट से साफ हो गया है कि कहीं ने कही विपक्ष में रहते हुए भी पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत राज्य सरकार के कार्य करने की गति को देखकर हैरान है और उसकी तारीफ किए बिना नही रह पाएं। अशोक गहलोत कांग्रेस के ऐसे नेता माने जाते है जो अपनी विचारधारा और पार्टी के कट्टर रहते है। अशोक गहलोत ने साबित कर दिया है कि राज्य सरकार प्रदेश की जनता के लिए त्वरित गति से कार्य कर रही है जिससे प्रदेश की आम जनता को काफी हद तक लाभ मिला है।

sachin-pilot

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष भी कर चुके है राज्य सरकार की सराहना

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट भी वसुंधरा सरकार की योजनाओं और अभियानों की सफलता में अपनी सहमति जाहिर कर चुके है। पिछले कुछ दिनों पहले सचिन पायलट बांसवाड़ा के दौरे पर थे और यहां एक सरकारी विद्यालय का दौरा करते हुए पायलट ने अपने ट्विटर पर लिखा कि ” बांसवाड़ा में एक सरकारी स्कूल के मुस्कुराते हुए बच्चों के साथ ” । यानी कहीं न कहीं पीसीसी चीफ यह मानने पर मजबूर हो गए थे कि राजस्थान के सरकारी स्कूलों के बच्चों पर मुस्कुराहट है।

मुख्यमंत्री राजे की योजनाओं से आज राजस्थान के शिक्षा क्षेत्र में जो सकारात्मक बदलाव आया है वह किसी से छुपा नही है। पायलट और गहलोत द्वारा राज्य सरकार की योजनाओं और अभियानों की सराहना करना अपने आप में ही बहुत कुछ कहता है। दोनों मुख्यमंत्री राजे के कट्टर विरोधी माने जाते है और दोनों ने राजस्थान के विकास में सरकार के विजन की तारीफ कर यह सिद्ध कर दिया है कि वसुंधरा सरकार के काम बोलते है और दिखाई भी देते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here