मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सरकार के तीन साल पूरे होने पर भरतपुर में सुराज के कामकाज को जनता के सामने प्रस्तुत किया। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे प्रदेश के सभी संभाग मुख्यालयों में ऐसे आयोजन कर रही हैं। भरतपुर में विकास कार्यों के उद्घाटन एवं शिलान्यास के बाद जनता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि  पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने जिस प्रकार के विकास कार्य अपने पांच साल के कार्यकाल में किए हैं ऐसे विकास कार्य हमारी सरकार अपने तीन साल के कार्यकाल में पूरे कर चुकी हैं।

गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक पहुंचा विकास

राजस्थान सरकार द्वारा 3 साल में किए अच्छे कार्यों का ठोस परिणाम सबके सामने हैं। गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक विकास पहुंचाने का कार्य हमारी सरकार ने बखूबी किया हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ़ सचिन पायलट प्रदेश सरकार पर अनावश्यक आरोप लगा रहे हैं, खैर आरोप लगाना विपक्ष का कार्य होता हैं लेकिन आरोप तथ्यात्मक हो तभी विपक्ष की भूमिका नज़र आती हैं।

कांग्रेस शासन में था राजस्थान बिमारू प्रदेश

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भरतपुर में कहा कि कांग्रेस ने राजस्थान का विकास किया होता तो प्रदेश बिमारू राजस्थान के नाम से नही पहचाना जाता। उन्होने बताया कि पुर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने किसानों को 5 सालों में 43 हज़ार करोड़ के ऋण वितरित किये थे लेकिन हमारी सरकार ने 3 सालों में ही प्रदेश के किसानों को 45,691 करोड़ के ऋण वितरित किये हैं।

गहलोत सरकार से ज्यादा विकास कार्यों पर किया हमने खर्च

गहलोत सरकार ने प्रदेश में पेयजल योजनाओं पर पांच साल में 12,225 करोड़ रुपए ही खर्च किए हैं जबकि हमारी सरकार ने प्रदेश की पेयजल समस्याओं को देखते हुए 3 साल में करीब 13 हज़ार करोड़ रुपए की राशि खर्च कर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने की अहम कोशिश की हैं। इसी तरह 3 साल में प्रदेश की भाजपा सरकार ने सड़क विकास में 13 हज़ार करोड़ खर्च किए हैं तो पूर्ववर्ती कांग्रेस इससे आधे का भी सड़क विकास कार्य नही करवा पाई। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि 3 साल में हमारी सरकार ने किसानों को 18 हज़ार 600 करोड़ का अनुदान दिया हैं जबकि कांग्रेस सरकार 7 हज़ार करोड़ रुपयों का अनुदान बमुश्किल से प्रदेश के किसानों को दे पाई। साबित होता हैं कि किस सरकार ने प्रदेश के विकास के लिए कितना कार्य किया हैं।

सरकार की योजनाओं के करवा रहे हैं आम जनता को रूबरू

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे अपने तीन साल के आंकड़ों की पैमाईश नही कर रही बल्कि हर क्षेत्र में जाकर लोगों को राज्य सरकार की योजनाओं से रुबरू करवा रही हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग प्रदेश सरकार की योजनाओं का लाभ ले सके।

कांग्रेस के पास नही हैं सरकार के खिलाफ़ आंकड़े

कांग्रेस चुप हैं क्योंकि प्रदेश कांग्रेस के पास आंकड़े नाम का दस्तावेज नही हैं। अगर राजस्थान कांग्रेस के नेता सचिन पायलट, अशोक गहलोत जैसे नेता चुप है तो इसका यही कारण है कि इनके पास वसुंधरा सरकार के खिलाफ कोई आंकड़े नही हैं। वसुंधरा सरकार आंकड़ों को दम पर बात करती हैं और कांग्रेसियों के पास विकास कार्यों के कोई ऐसे आंकड़े नही हैं जिनके दम पर वे बोल सके ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here