CM Vasundhara Raje meets Amit Shah
CM Vasundhara Raje meets Amit Shah

राजस्थान में 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने सत्ता में रिकॉर्डतोड़ जीत के साथ वापसी की। चुनाव में मिलीं ऐतिहासिक जीत से पहले भारतीय जनता पार्टी ने अपने घोषणा-पत्र में प्रदेश के सभी वर्गों के हित को ध्यान में रखते हुए कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की थी। प्रदेश में पिछले साढ़े चार साल से ​बीजेपी की सरकार सत्ता में बनीं हुई है। CM Vasundhara Raje meets Amit Shah

इन साढ़े चार वर्षों के दौरान वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए करीब-करीब सभी वादे पूरे कर दिए हैं। राजे सरकार की कई योजनाएं आमजन के लिए जीवनदायिनी साबित हो रही है। CM Vasundhara Raje meets Amit Shah

राज्य में विकास की बहार के बीच बीजेपी सरकार अब आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने वाली है। वर्तमान सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यों की उपलब्धि से लोगों को रूबरू कराने के लिए बीजेपी सरकार राजस्थान में विकास यात्रा का निकालने जा रही है। इस विकास यात्रा की कमान खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के हा​थों में होगी। हाल ही में मुख्यमंत्री राजे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने दिल्ली पहुंची थी। आइये जानते हैं सीएम राजे राष्ट्रीय संगठन के मुखिया से क्यूं मिलीं..

राजस्थान में विधानसभा और लोकसभा चुनावों की तैयारियों के मद्देनजर हुई बैठक CM Vasundhara Raje meets Amit Shah

Read More: राजस्थान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में अब भूपेन्द्र यादव का भी नाम शामिल

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने हाल ही में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सहित राजस्थान और आंध्रप्रदेश से पार्टी के शीर्ष नेताओं से गहन वार्ता की। इस साल राजस्थान में विधानसभा चुनाव और अगले साल लोकसभा चुनावों की तैयारियों के मद्देनजर यह बैठक हुई है। बैठक के बाद पार्टी के एक नेता ने बताया कि राज्य और केन्द्र सरकारों के कार्यों के प्रचार के लिए राजस्थान में यात्रा निकालने का फैसला किया गया। यह फैसला बीजेपी के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि जनवरी माह के अंत में राजस्थान में लोकसभा की दो और विधानसभा की एक यानि कुल तीन सीटों पर हुए उपचुनाव में पार्टी का प्रदर्शन फीका रहा था।

बैठक में राजस्थान भाजपा अध्यक्ष के नाम की नहीं हुई घोषणा

राजस्थान में भाजपा अध्यक्ष पद के पिछले दिनों दिए इस्तीफे के बाद से नए नाम की घोषणा की उम्मीद जताई जा रही थी, लेकिन बैठक के दौरान अध्यक्ष के नाम की घोषणा नहीं की गई। CM Vasundhara Raje meets Amit Shah

अप्रैल माह में प्रदेश अध्यक्ष पद से अशोक परनामी के इस्तीफे के बाद राज्य इकाई का अगला प्रमुख कौन होगा इसको लेकर अटकलों के बीच शाह की अध्यक्षता में राजे, पार्टी के कुछ राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं ने आगामी चुनाव के लिए रणनीति तैयार की। लेकिन फिलहाल के लिए प्रदेश अध्यक्ष के नाम की घोषणा एक बार फिर टाल दी गई है। इसका कारण माना जा रहा है कि किसी एक नाम पर प्रदेश और केन्द्रीय नेताओं में सहमति नहीं बन पाई है।

दुष्प्रचार के मुकाबले के लिए वृहत स्तर पर संपर्क कार्यक्रम चलाने की जरूरत

बैठक के बाद सूत्रों से पता चला कि राज्य और केन्द्र सरकार की उपलब्धियों के बारे में लोगों को बताने के लिए सघन अभियान चलाने तथा यात्रा निकालने का फैसला किया गया है। बीजेपी का मानना है कि दुष्प्रचार के मुकाबले के लिए राज्य में वृहत स्तर पर संपर्क कार्यक्रम चलाने की जरूरत है। पार्टी के आंध्रप्रदेश के नेताओं के साथ अमित शाह की बैठक में फैसला किया गया कि तीन केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल और प्रकाश जावडेकर केन्द्र सरकार के कार्यों के प्रचार के लिए राज्य के तीन मुख्य क्षेत्रों का दौरा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here